DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   झारखंड  ›  रांची  ›  पंचायतों में गठित की जाएगी एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग क्लब
रांची

पंचायतों में गठित की जाएगी एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग क्लब

हिन्दुस्तान टीम,रांचीPublished By: Newswrap
Mon, 14 Jun 2021 09:50 PM
पंचायतों में गठित की जाएगी एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग क्लब

रांची। संवाददाता

झारखंड के पंचायतों में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग क्लब का गठन किया जाएगा। इसके लिए राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग व बाल कल्याण संघ ने संयुक्त रूप प्रयास शुरू कर दिये हैं। प्रारंभिक चरण में खूंटी जिला में पायलट प्रोजेक्ट के तहत कार्य का शुभारंभ होगा। इस योजना में पंचायत प्रतिनिधियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। इसके लिए पुलिस को पूरे देश में ट्रैफिकिंग की रोकथाम के लिए ट्रेनिंग देने वाले आइपीएस अधिकारी डॉ पीएम नायर ने भी प्रशिक्षण देने को लेकर सहमति जताई है।

कार्यक्रम के तहत प्रत्येक कॉलेज में भी एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग क्लब का गठन किया जाएगा। वर्तमान में खूंटी जिला में सर्वे कार्य जारी है। इसके अलावा कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन फाउंडेशन ने भी बाल श्रम, बंधुवा मजदूरी, बाल दुव्यापार के खिलाफ सभी विधायकों को पत्र भेजकर सहयोग मांगा है।

पत्र में उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र, जिला और राज्यस्तर पर चाइल्ड ट्रैफिकिंग को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने, सभी बच्चों को 12वीं तक मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा उपलब्ध कराने, विधायकों की पहल पर सभी जिलों में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट को सक्रिय करने और जवाबदेही सुनिश्चित करने की बात कही है। इसके अलावा पंचायत में ग्राम पलायन रजिस्टर की व्यवस्था बहाल करने की बात कही, ताकि कोई बच्चा ट्रैफिकिंग का शिकार न हो। पत्र में देश के अलग-अलग राज्यों से छुड़ाए गए बाल मजदूरों के लिए समुचित शिक्षा व पुनर्वास की व्यवस्था करने, बच्चों को यौन शोषण से बचाने के लिए चाइल्ड फ्रेंडली पुलिस स्टेशन और चाइल्ड फ्रेंडली कोर्ट का निर्माण करने, बाल यौन हिंसा, बाल मजदूरी के सभी मामलों का निपटारा एक साल के अंदर करने व जोखिम पूर्ण स्थिति में रह रहे परिवारों, बच्चों को चिन्हित कर सरकारी योजना से जोड़ने की बात कही गई है।

संबंधित खबरें