DA Image
13 नवंबर, 2020|8:56|IST

अगली स्टोरी

चांडिल स्टेशन पर डंपिंग यार्ड बनाने पर जवाब तलब

default image

चांडिल रेलवे स्टेशन पर कोयला और आयरन ओर डंपिंग यार्ड बनाए जान पर झारखंड हाईकोर्ट ने रेलवे और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से जवाब मांगा है। चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत ने रेलवे को यह बताने को कहा है कि चांडिल स्टेशन से कितनी यात्री ट्रेनों का परिचालन होता है। डंपिंग यार्ड के लिए रेलवे कोई स्थायी व्यवस्था करेगा या नहीं।

जबकि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को यह बताना होगा कि उसने चांडिल स्टेशन के डंपिंग यार्ड की कितनी बार जांच की है। यहां प्रदूषण हो रहा है या नहीं। दोनों को चार सप्ताह में शपथपत्र के माध्यम से जवाब दाखिल करने का निर्देश अदालत ने दिया। इस संबंध में प्रमोद कुमार शर्मा ने जनहित याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है कि चांडिल स्टेशन पर रेलवे ने आयरन ओर से और कोयला का डंपिंग यार्ड बनाया गया है। इससे प्रदूषण फैल रहा है और आसपास की आबादी के सेहत पर बूरा प्रभाव पड़ रहा है। इसकी शिकायत रेलवे से की गयी है, लेकिन अभी तक कोई सुधार नहीं हुआ है। चांडिल स्टेशन पर ट्रेन जब खड़ी रहती है, तब यात्रियों को भी परेशानी होती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Answer to build on dumping yard at Chandil station