DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य भर की आंगनबाड़ी सेविका ने किया शक्ति प्रदर्शन

राज्य भर की आंगनबाड़ी सेविका ने किया शक्ति प्रदर्शन

विभिन्न संगठनों के बैनर तले राज्य भर की आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका बुधवार को रांची पहुंची। इन्होंने मोरहाबादी से राजभवन तक विरोध मार्च निकाल अपना शक्ति प्रदर्शन किया। इन्होंने कहा जब तक इनकी मांगें पूरी नहीं होती है ये अपना आंदोलन समाप्त नहीं करेंगे। झारखंड प्रदेश आंगनबाड़ी वर्कर्स यूनियन के तहत सैकड़ों सेविका और सहायिका पिछले 22 दिनों से आंदोलनरत हैं।

15 जून से देश भर में होगा आंदोलन

सेविका और सहायिका के इस आंदोलन को राष्ट्रीय संगठन भी अपना समर्थन दे रहे हैं। विरोध मार्च में आंगनबाड़ी इम्पलाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया के राषट्रीय सलाहकार कॉमरेड अचिन्तो सिन्हा व कमलेश चाहल भी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि अगर राज्य भर की सेविकाएं एक होकर आंदोलन करेंगी तो रघुवर सरकार को हर हाल में उनकी मांगों को मानना होगा। अगर 14 जून तक उनकी मांगें नहीं मानी जाती हैं तो 15 जून से देश भर की सेविका और सहायिका उनके समर्थन में सड़क पर उतरेंगी।

राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

प्रदर्शन के बाद आंगनबाडड़ी एंप्लाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया ने राज्यपाल को एक ज्ञापन भी सौंपा। इसमें उन्होंने राज्यपाल से मांग की है कि वह इनकी मांगों को लेकर सरकार से बात करें। अपने ज्ञापन में उन्होंने कहा इतनी भीषण गर्मी में सेविकाएं जिनमें कुछ बीमार हैं तो कुछ अपने बच्चे को छोड़कर यहां आंदनलन कर रही हैं। ये केवल अपने अधिकारों की मांग कर रही है और सरकार इनकी मांग को नजरअंदाज कर रही हैं।

क्या है मांग

सेविकाएं पिछले 22 दिनों से अपनी नौ सूत्री मांगों को लेकर आंदोलन कर रही हैं। इनकी मांग है कि जनवरी में जिसका आश्वासन इन्हें समाज कल्याण विभाग के सचिव ने जो आश्वासन दिया था उसे शीघ्र लागू किया जाए। इसमें सबसे अहम है इनके मानदेय में वृद्धि। इनकी मांग है कि जब तक मानदेय में वृद्धि नहीं की जाएगी ये आंदोलन समाप्त नहीं करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Anganwadi worker from across the state performed power demonstration