DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगले सत्र से विश्वविद्यालय स्तर से आयोजित होगी आलिम-फाजिल की परीक्षा

आलिम-फाजिल की परीक्षा अगले शैक्षणिक सत्र से विश्वविद्यालय स्तर आयोजित की जाएगी। इसका सिलेबस पैटर्न पर तैयार किया जा चुका है। इससे पहले परीक्षा का आयोजन जैक करता था। बुधवार को राज्य अल्पसंख्यक आयोग में आलिम-फाजिल की परीक्षा विश्वविद्यालय स्तर से आयोजित करने व अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को उनकी मातृभाषा में किताबें उपलब्ध कराने को लेकर बैठक की गई। आयोग के अध्यक्ष कमाल खान की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में रांची विश्वविद्यालय की प्रति कुलपति डॉ कामिनी कुमार, आयोग के उपाध्यक्ष गुरदेव सिंह राजा व अशोक षाड़ंगी, जैक के संयुक्त सचिव नवल किशोर, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा के उपनिदेशक संजीव चतुर्वेदी आदि मौजूद थे।

रांची विश्वविद्यालय की प्रति कुलपति डॉ कामिनी कुमार ने बताया कि आलिम व फाजिल की परीक्षा के लिए सीबीसीई पैटर्न पर सिलेबस तैयार हो गया है। साथ ही, परीक्षा आयोजन के लिए एफिलिएशन विश्वविद्यालय के एकेडेमिक काउंसिल और सिंडिकेट से जल्द पास करा लिया जाएगा। उन्होंने 13.04.2018 के एफिलिएशन का ही पालन करने की बात कही। साथ ही, भरोसा दिलाया गया कि अगले सत्र से आलिम और फाजिल की परीक्षा विश्वविद्यालय स्तर से ही आयोजित हो सकेगी। अन्य विश्वविद्यालयों में भी इसी प्रक्रिया का पालन होगा

झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद के मुकेश कुमार सिन्हा ने बताया कि सरकार अल्पसंख्यक भाषा-भाषी विद्यार्थियों को कक्षा एक और कक्षा दो की पाठ्य पुस्तकें उनकी मातृभाषा में ही उपलब्ध करा रही है। आयोग ने कक्षा पांच तक के अल्पसंख्यक भाषा-भाषी विद्यार्थियों को उनकी मातृभाषा में पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध कराने की अनुशंसा की। इस पर झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद के मुकेश कुमार ने सरकार तक बात पहुंचाने और आगे की कार्रवाई का भरोसा दिलाया। बैठक में रांची विश्वविद्यालय उर्दू विभाग की सहायक प्रोफेसर शहनाज राना व आयोग के सचिव नेसार अहमद भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Alim-Fazil examinations will be held from the university level from next session