ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड रांचीजयंत व राज सिन्हा पर कार्रवाई जातीय राजनीति से प्रेरित : झामुमो

जयंत व राज सिन्हा पर कार्रवाई जातीय राजनीति से प्रेरित : झामुमो

हार के डर से बौखलाई भाजपा कायस्थ और क्षत्रिय समाज को कर रही टारगेट, हलफनामा देकर खुद फंस गए निशिकांत, चुनाव आयोग की भूमिका पर उठाया...

जयंत व राज सिन्हा पर कार्रवाई जातीय राजनीति से प्रेरित : झामुमो
हिन्दुस्तान टीम,रांचीFri, 24 May 2024 08:30 PM
ऐप पर पढ़ें

रांची। हिन्दुस्तान ब्यूरो
सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने भाजपा नेता जयंत सिन्हा और राज सिन्हा के खिलाफ कार्रवाई पर निशाना साधा है। महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने दावा किया कि भाजपा हार के डर से बौखला गई है। क्षत्रिय समाज के नेताओं को टारगेट करने के बाद कायस्थ समाज के नेताओं को लक्ष्य बनाया जा रहा है। जब इन लोगों ने अपना जवाब दे दिया है तो उन्हें सामंतवादी कहकर अपमानित किया जा रहा है। लोग अब भाजपा के झांसे में नहीं आनेवाले हैं। दावा किया कि भाजपा अब अंतिम लड़ाई लड़ रही है।

सुप्रियो भट्टाचार्य ने फिर से चुनाव आयोग की भूमिका पर सवाल उठाते हुए कहा कि अब जाकर भाजपा को नोटिस दिया जा रहा है। यह धोखा है। जब चुनाव अंतिम चरण में है। भाजपा को जो जहर फैलाना था, उसने फैला दिया। अब नोटिस देने से कोई फायदा नहीं है। एक करोड़ से अधिक वोट बढ़ने के मामले को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज नहीं किया है। कोर्ट ने यह कहा है कि अवकाश के दिन में एकल बेंच में सुनवाई हो रही है। उसे नियमित बेंच को ट्रांसफर किया गया है। इस आधार पर उन्होंने चुनाव आयोग की भूमिका पर सवाल उठाया।

सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि गोड्डा के मौजूदा सांसद निशिकांत दुबे खुद ही फंसते जा रहे हैं। पहले तो हलफनामे में कई अहम जानकारियां छुपाईं। निर्दलीय चुनाव लड़ रहे अभिषेक झा मामले में उनके खुद के हाथ जल रहे हैं। निशिकांत दुबे को बताना चाहिए कि उन्होंने उनके ट्विट का कैसे राजनीतिक इस्तेमाल किया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।