DA Image
31 अक्तूबर, 2020|3:56|IST

अगली स्टोरी

छात्रों और मजदूरों को वापस लाने का प्लान तैयार, गृह मंत्रालय की अनुमति का इंतजार

default image

झारखंड सरकार ने विभिन्न राज्यों में फंसे छात्रों और मजदूरों को वापस लाने का प्लान तैयार कर लिया है। झारखंड के लोगों को वापस लाने के मुद्दे पर गृहमंत्री से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की बातचीत हो चुकी है। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री ने छात्रों, श्रमिकों और अन्य लोगों को वापस लाने के लिए केंद्र से मदद और अनुमति मांगी है। गृहमंत्री ने राज्य सरकार को अपने निर्णय से सोमवार को अवगत कराने को कहा है।

गृह मंत्रालय से स्वीकृति मिलने का इंतजार है। अनुमति मिलने के बाद सबसे पहले अधिकारियों का एक दल कोटा जाएगा। फिर केंद्र और राजस्थान सरकार से बस की व्यवस्था कराकर छात्रों को वापस लाने की तैयारी कर ली गई है।सीएम ने कोटा, राजस्थान, मुम्बई-पुणे महाराष्ट्र, पंजाब, गुजरात, पश्चिम बंगाल आदि राज्यों से अपने लोगों को लाने के लिए मुख्य सचिव को तैयारी करने का निर्देश दे दिया है।

सत्तासीन दल झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि सरकार कोई भी निर्णय जल्दबाजी में नहीं लेगी चाहती। सरकार अपना हर कदम गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देश के तहत उठाएगी। उन्होंने कहा कि कोटा के अलावा दक्षिण, पूर्वी, पश्चिमी या उत्तरी भारत से झारखंड के लोगों को लाने के लिए कई राज्यों से होकर गुजरना होगा। यह गृह मंत्रालय की अनुमति के बगैर मुमकिन नहीं है। अनुमति मिलते ही सरकार हरकत में आएगी। पहले छात्र फिर मजदूरों को ट्रेन से लाने का प्लान केंद्र सरकार से अनुमति मिलने के बाद सरकार की ओर से अधिकारियों का दल भेजा जाएगा। ये अधिकारी संबंधित राज्यों और केंद्र सरकार के अफसरों के साथ समन्वय कर पहले बसों से छात्रों को वापस लाएंगे। उसके बाद सबसे पहले महाराष्ट्र फिर गुजरात से विशेष ट्रेन से मजदूरों को वापस लाने की प्रक्रिया की जाएगी। विशेष ट्रेन से ही दिल्ली, पंजाब, हैदराबाद से मजदूरों को लाने की योजना है। हालांकि इसकी प्रक्रिया तय की जा रही है। झारखंड के लोगों को स्टेशन तक पहुंचने की व्यवस्था करनी होगी। पहले रांची आएंगे छात्रसुप्रिया भट्टाचार्य ने बताया कि सरकार की योजना के अनुसार कोटा, पुणे आदि जगहों पर फंसे छात्रों को मेडिकल प्रोटोकॉल अपनाते हुए पहने रांची मुख्यालय लाया जाएगा। यहां उनका स्वास्थ जांच कराने, कॉरन्टाइन का प्रोटोकॉल पूरा करने के बाद घर भेजने की व्यवस्था की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:A plan to bring back the students and laborers is ready waiting for the permission of the Ministry of Home Affairs