अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहकारी बैंक के बोर्ड में 50 प्रतिशत महिलाओं को स्थान

झारखंड राज्य सहकारी बैंक लिमिटेड की वार्षिक आमसभा में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये। इसमें बैंक के बोर्ड के सदस्यों की संख्या का 50 प्रतिशत सीट महिलाओं के लिए आरक्षित करने का निर्णय लिया गया। साथ ही यह भी बैंक की नियमावली में संशोधन का भी निर्णय लिया गया। संशोधन में यह प्रस्ताव लाया जा रहा है कि यदि बोर्ड के चुनाव में प्रोफेशनल (बैंकिंग विशेषज्ञ) नहीं चुन कर आते हैं तो बैंक के प्रशासक को संविदा पर रखने का अधिकार होगा। तीन सीट विशेषज्ञों के लिए आरक्षित है। सात जनवरी को झारखंड राज्य सहकारी बैंक की चतुर्थ वार्षिक आमसभा हुई। निबंधक-सहयोग समितियां सह बैंक के प्रशासक विजय कुमार सिंह की अध्यक्षता में आमसभा की बैठक हुई। आमसभा में मुख्य रुप से पिछली वार्षिक आमसभा में लिए गए निर्णयों एवं कार्यों की सम्पुष्टि तथा विगत तीन वर्षों के आंशिक क्रियाकलापों की समीक्षा की गई । झारखंड राज्य सहकारी बैंक द्वारा सूचना एवं प्रौद्योगिकी के माध्यम से ग्राहकों को दी जा रही सेवाओं एवं सुविधाओं जैसे की एनइएफटी/आरटीजीएस, एइपीएस/एपीबीएस, सीटीएस, इसीएस/एमएमएस एवं रुपे की विस्तृत जानकारी दी गई । यह बताया गया की इसके अलावा राज्य में माइक्रो एटीएम के माध्यम से बैंकिंग एवं डीबीटी की सुविधा भी लाभुकों को उनके घर पर उपलब्ध करायी जा रही है। निकट भविष्य में बैंक के द्वारा विभिन्न विभागों के लिए राजस्व संग्रहण केन्द्र स्थापित करने की योजना है।निबंधक-सहयोग समितियां झारखंड सह प्रशासक, झारखंड राज्य सहकारी बैंक लिमिटेड विजय कुमार सिंह, द्वारा लैम्पस एवं पैक्स के कम्प्यूटरीकरण के लिए केंद्र सरकार, राज्य सरकार एवं सहकारिता संरचना द्वारा कराये जाने की जानकारी दी गई। सभा में बताया गया कि सात जिला केन्द्रीय सहकारी बैंकों का विलय दिनांक एक अप्रैल 2017 के प्रभाव से झारखंड राज्य सहकारी बैंक में किया गया है। फिलहाल झारखंड राज्य सहकारी बैंक की 105 शाखायें एवं तीन क्षेत्रीय कार्यालय कार्यरत हैं। सहकारी बैंक वाणिज्यक बैंकों के समकक्ष सभी सुविधाएं प्रदान करने में सक्षम है। जानकारी दी गई कि पलामू प्रमंडल में सहकारी बैंक की नौ शाखायें खोलने का प्रस्ताव भारतीय रिजर्व बैंक को भेजा गया है। साथ ही वैसे सुदूर ग्रामीण क्षेत्र जहां बैंकिंग की सुविधा उपलब्ध नहीं है, वहां झारखंड राज्य सहकारी बैंक की 138 शाखा खोलने का प्रस्ताव भारतीय रिजर्व बैंक को भेजा गया है । स्वीकृति प्राप्त होते ही पलामू प्रमंडल एवं अन्य सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में भी सहकारी बैंक की शाखायें कार्य करने लगेंगी। इस अवसर पर राज्य के विभिन्न सहकारी समितियों के प्रतिनिधि, अंशधारक के अलावा बैंक के सीइओ श्री ब्रजेश्वर नाथ उपस्थित थे। मंच का संचालन, श्री जयदेव प्रसाद सिंह, महाप्रबंधक, झारखंड राज्य सहकारी बैंक एवं धन्यवाद ज्ञापन क्षेत्रीय प्रबंधक, दुमका राकेश कुमार ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:50 percent of women in the board of co-operative bank