DA Image
23 सितम्बर, 2020|8:23|IST

अगली स्टोरी

बंजर जमीन बन गया सेल्फी सेंटर

default image

सीसीएल हजारीबाग कोयला क्षेत्र के झारखंड उत्खनन परियोजना स्थित झारखंड चिकित्सालय का कैंपस इन दिनों क्षेत्र के लोगों के लिए सेल्फी सेंटर बन गया है। इस संबंध में अस्पताल कर्मी सिस्टर प्रभावति कुमारी सिंह, वार्ड बॉय इस्लाम अंसारी, बाहा मुनी और ईमा लकड़ा ने बताया कि तीन वर्ष पूर्व तक अस्पताल का कैंपस बंजर हुआ करता था। 16 मार्च 2018 को यहां चिकित्सा प्रभारी के रुप में डा. एसके सिंह योगदान देने आये। उन्होंने इस बंजर कैंपस को हरा भरा करने के लिए हमलोग से सहयोग मांगा। हम सभी ने मिलकर आज इस कैंपस को इस लायक बना दिया है कि लोग अब यहां पर सेल्फी लेने और पेड़ पौधों के बीच सुकून का कुछ पल बिताने यहां आते हैं। इस कैंपस में नारियल चार, शीशम दो, पलास दो, कसैली एक, रबर एक, कोस्टल पाम तीन, शरीफा चार, नीम छह, पीपल एक, नागफनी चार, शमी चार, करंज चार, अमरुद तीन, आंवला चार, शहजन तीन, बेल एक, अशोका 15, बोतल ब्राश 20 सहित कई अन्य पेड़ पौधे लगे हुए हैं। वहीं इस संबंध में डा. सिंह ने कहा कि मैं प्रकृति प्रेमी हूं। इस अस्पताल कैंपस को सजाने, संवारने और साफ-सफाई में पूरे अस्पताल कर्मियों का सहयोग है। मैं इसी माह के तीस सितंबर को सेवा निवृत होने वाला हूं। आगे इसकी देखभाल करना अस्पताल कर्मियों के अलावे यहां के लोगों की जिम्मेवारी है। डा. सिंह ने कहा कि हमें विश्वास है कि हजारीबाग कोयला क्षेत्र में ही नहीं बल्की पुरे सीसीएल में यह एक मात्र ऐसा चिकित्सालय होगा, जहां इतने सारे औषधीय पेड़-पौधों के साथ सैकड़ो फूल के पौधे लगे हुए हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The barren land became a selfie center