DA Image
25 अक्तूबर, 2020|1:41|IST

अगली स्टोरी

विशेष न्यूज : पीटीपीएस से हुए विस्थापित और प्रभावित ठगी का शिकार हुए हैं : अंबा प्रसाद

default image

पीटीपीएस से हुए विस्थापित और प्रभावित ठगी का शिकार हुए हैं। उन्हें भूखे रखकर आठ दिनों तक भूख हड़ताल किया गया। किंतु अंचल कार्यालय में हुए त्रिपक्षीय वार्ता में इनके समस्याओं का कोई समाधान नहीं निकला। क्योंकि विस्थापितों के समस्याओं को अंचल स्तरीय वार्ता में समाधान नहीं किया जा सकता है। उक्त बातें बुधवार को पीटीपीएस में बड़कागांव विधानसभा क्षेत्र के विधायक अंबा प्रसाद ने कही। कहा कि बड़कागांव में विस्थापितों की ओर से सत्याग्रह आंदोलन चलाया जा रहा है। वहां पर भी एनटीपीसी की ओर से प्लांट स्थापित किया जा रहा है। इसलिए वहां पर जो भी निर्णय होगा। पतरातू में भी उस निर्णय को लागू कराया जाएगा। वहीं जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी ने कहा कि झारखंड राज्य में पिछली सरकार केवल और केवल कारपोरेट जगत को लाभ पहुंचाने का काम किया है। यह भी कहा कि किसी राज्य के विकास के लिए उद्योग का लगना आवश्यक है। किंतु विस्थापित और प्रभावितों के हक-अधिकार को बिना दिए हुए विकास की बात नहीं की जा सकती है। ---पीटीपीएस पतरातू में कार्यकर्ताओं ने छह विधायकों का किया जोरदार स्वागत पीटीपीएस पतरातू में बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रांची से बड़कागांव जा रहे छह विधायकों का जोरदार स्वागत किया। जिसका नेतृत्व कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव मो सलीम, प्रखंड प्रभारी सुजीत पटेल, कृष्णा सिंह, अमर यादव आदि ने की। इसमें कांग्रेस के बड़कागांव विधानसभा क्षेत्र के विधायक अंबा प्रसाद, रामगढ़ विधायक ममता देवी, जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी, बरही विधायक उमाशंकर अकेला, सिमडेगा विधायक भूषण बाड़ा और कोलेबिरा विधायक नमन विल्सन शामिल थे। जो बड़कागांव में विस्थापितों की ओर से एनटीपीसी के विरुद्ध चल रहे सत्याग्रह आंदोलन में बातचीत के लिए जा रहे थे। स्वागत कार्यक्रम में वरिष्ठ नेता अंजन प्रसाद, मोहन शुक्ला, राजू पांडेय, जयंत तुरी, रंजीत सिंह, बिदका बाउरी, याकूब राय, मो आरीफ, मो सोहेल, मकसूद अंसारी, निर्मला देवी, रेखा सिंह, मो रब्बानी, प्रीतम सिंह, वीरु सिंह, सौकत खान, वाहिद अंसारी, सुलेखा सिंह, अशोक साव, बिमला कुमारी, अनिल सिंह, चंदन कुमार, बैजनाथ साव आदि शामिल थे। ---साजिश के तहत मोर्चा के पदधारियों पर लगाया जा रहा है झूठा आरोप विस्थापित-प्रभावित संघर्ष मोर्चा की ओर से प्रेस बयान जारी कर कहा गया कि साजिश के तहत मोर्चा के पदधारियों पर झूठा और मनगढ़त आरोप लगाया जा रहा है। मोर्चा की ओर से पैसा की वसूली ना कभी की जाती है और ना ही कभी की गई है। साजिशकर्ताओं की ओर से यह आरोप बिल्कुल झूठा और बेबुनियाद है। क्योंकि कुछ साजिशकर्ताओं के द्वारा मोर्चा के आंदोलन को कुचलने के लिए मिली भगत कर रहे हैं। इस झूठे आरोप और साजिश के खिलाफ सभी विस्थापित और प्रभावित गांवों में बैठक किया जाएगा। साथ ही उपायुक्त को पत्र लिखकर इन साजिश करने वालों पर कानूनी कार्रवाई के लिए आग्रह किया जाएगा। ---सरकार में रहने के बाद भी विस्थापितों को क्यों नहीं दिलाया जा रहा है न्याय आजसू के प्रखंड कार्यकारी अध्यक्ष ब्रजेश सिंह ने प्रेस बयान जारी कर बताया कि सरकार में रहने के बाद भी विस्थापित-प्रभावित आंदोलनकारियों को न्याय क्यों नहीं दिलाया जा रहा है। उन्होंने विधायक अंबा प्रसाद के बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि बड़कागांव की जनता को 15 सालों से आंदोलन के नाम पर दिग्भ्रमित किया जा रहा है। क्योंकि यह मामला सुलझ गया तो उन्हें ओछी राजनीति करने का मौका नहीं मिलेगा। जबकि आजसू पार्टी बड़कागांव विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए कटीबद्ध है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Special News Displaced and affected by PTPS have been victims of thugs Amba Prasad