ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड रामगढ़रांची-बरकाकाना रेलखंड में पैसेंजर ट्रेन नहीं चलने से बढ़ रही है ग्रामीणों में नाराजगी

रांची-बरकाकाना रेलखंड में पैसेंजर ट्रेन नहीं चलने से बढ़ रही है ग्रामीणों में नाराजगी

बरकाकाना-रांची रेलखंड में 28 जून 2023 से पटना-रांची वंदे भारत एक्सप्रेस शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉफ्रेसिंग के जरिए किया...

रांची-बरकाकाना रेलखंड में पैसेंजर ट्रेन नहीं चलने से बढ़ रही है ग्रामीणों में नाराजगी
हिन्दुस्तान टीम,रामगढ़Sun, 03 Dec 2023 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

बरकाकाना, निज प्रतिनिधि
बरकाकाना-रांची रेलखंड में 28 जून 2023 से पटना-रांची वंदे भारत एक्सप्रेस शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉफ्रेसिंग के जरिए किया था। लेकिन अफसोस की बात है कि 5 महीना 5 दिन बीत जाने के बाद सुदूरवर्ती क्षेत्र के लोगों को वंदे भारत एक्सप्रेस और न्यू गिरीडीह-रांची इंटरसीटी को गुजरते देख रहे हैं। इस रूट में अबतक बरकाकाना-मेसरा-रांची रेलखंड में पैसेंजर ट्रेन का परिचालन शुरू नहीं हो पाया है। इससे सुदूरवर्ती क्षेत्र के कड़रू, कोड़ी, दाडीदाग, बारीड़ीह, खपिया, जोबो, अरमादाग, पालू, अमझरिया सहित पहाड़ के तलहटी में बसे हजारों लोगों के लिए पैसेंजर ट्रेन ही सहारा बनेगा। लेकिन विडंबना है कि हटिया-सांकी व सांकी-हटिया सवारी गाड़ी, बरकाकाना-सिधवार व सिधवार-बरकाकाना सवारी गाड़ी चल रही है। इस बीच सिधवार से सांकी करीब 26 किलो मीटर सवारी गाड़ी का परिचालन नहीं हो रहा है। इस कारण क्षेत्र के किसान, मरीज, छात्र, मजदूरों को रांची आने-जाने में काफी परेशानी हो रही है। हेहल स्टेशन प्रबंधक को ग्रामीणों ने मांग पत्र सौंपा। आवेदन में बताया है कि बरकाकाना-रांची के बीच दो-दो सुपरफास्ट ट्रेन चलाई जा रही है। पर हमें उसमें कोई लाभ नहीं मिल रहा है। जबकि सैकड़ों एकड़ जमीन इस रेल परियोजना को बनाने में हमने दी है। ताकि इस क्षेत्र में हमें रोजगार मिलेगा। इस अवसर पर ऐक्टू के जिला सचिव ने कहा कि इस रेल परियोजना को पूरा हुए 2 साल से अधिक हो गए। लेकिन दर्जनों गांव के लोग विकास से वंचित हैं। अभी तक बरकाकाना भाया मेसरा स्टेशन से कोई पैसेंजर ट्रेन नहीं चलाया जा रहा है। यह एक गंभीर सवाल बनता है। जबकि आदिवासी बहुल गांवों के हजारों लोग जिसमें मजदूर, किसान, छात्र व आम को प्रतिदिन यात्रा आवागमन में सुविधा के साथ बड़े पैमाने में उन्हें रोजगार से जुड़ने का अवसर होगा। इस लिए ऐक्टू मांग करती है अविलंब बरकाकाना भाया मेसरा ,हेहल स्टेशन होकर रांची तक पैसेंजर ट्रेन प्रतिदिन चलाई जाए। मौके पर मुख्य रूप से ऐक्टू जिला सचिव अमल कुमार, बारीडीह पंचायत मुखिया भुवनेश्वर बेदिया, लाल मोहन मुंडा, पंसस कैलाश बेदिया, रविन्द्र बेदिया, लक्ष्मी देवी, सरिता देवी, राजेन्द्र बेदिया, शिवदयाल बेदिया, सुमंती देवी, बंधन मुंडा, छोटेलाल बेदिया समेत दर्जनों लोग शामिल थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें