Ramgarh 148 gets new eye sight in first phase of free cataract camp - नि:शुल्क मोतियाबिंद शिविर के पहले चरण में 148 को मिली नई रोशनी DA Image
12 दिसंबर, 2019|9:48|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नि:शुल्क मोतियाबिंद शिविर के पहले चरण में 148 को मिली नई रोशनी

default image

टाटा स्टील वेस्ट बोकारो शंकर नेत्रालय और डिस्ट्रिक्ट ब्लाइंड कंट्रोल सोसाइटी रामगढ़ के सौजन्य से वेस्ट बोकारो के मुकुंदाबेड़ा में 26 नवम्बर से 4 दिसंबर तक चले निःशुल्क मोतियाबिंद शिविर का बुधवार को समापन हुआ। इस शिविर में 26 से 29 नवम्बर तक नेत्र जाँच और 30 नवम्बर से 4 दिसम्बर तक मोतियाबिंद का ऑपरेशन किया गया। जांच शिविर में 663 मरीज़ो ने रजिस्ट्रेशन करवाया। जिसमें से 286 लोगों को ऑपरेशन के लिए उपयुक्त पाया गया। जिसमें 148 लोगों का सफल ऑपरेशन हुआ। बाकी बचे 138 मरीजो का ऑपरेशन 14 दिसम्बर से शुरू होने वाले दूसरे शिविर में किया जाएगा। शिविर का मुख्य उद्देश्य दूरदराज के गांवों में मोतियाबिंद से पीड़ित वृद्ध लोगों तक पहुंचना और उनके आँखों की ज्योति वापस लौटना है। चेन्नई के शंकर नेत्रालय और आईआईटी मद्रास के सहयोग से विकसित मोबाइल नेत्र शल्य चिकित्सा यूनिट (एमईएसयू) के माध्यम से दूरदराज के गांवों के लिए यह सर्वश्रेष्ठ मोतियाबिंद सुविधा पूरी तरह से निःशुल्क उपलब्ध कराई गई है। शंकर नेत्रालय की 20 सदस्यों की मेडिकल टीम जिसमें डॉ विभूति नारायण और डॉ पल्लमी घोष शामिल थे। जिन्होंने मोतियाबिंद से पीड़ित लोगों के लिए श्रेष्ठ चिकित्सा सुविधाओं से उनका इलाज सुनिश्चित किया। वित्तीय वर्ष 2020 का यह पहला शिविर है और फरवरी 2020 तक इस तरह के दो और शिविर लगाये जायेंगे। आयोजन को सफल बनाने में टीएसआरडीएस के यूनिट हेड केशव रंजन, डॉ टीबी सिंह, डॉ जयंत त्रिपाठी सहित पूरी टीम का सराहनीय योगदान रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ramgarh 148 gets new eye sight in first phase of free cataract camp