DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलीगढ़ा एक्सावेशन के कर्मियों ने वेतन भुगतान की मांग को लेकर काम ठप किया

रेलीगढ़ा एक्सावेशन वर्कशॉप कर्मियों ने शुक्रवार को वेतन भुगतान की मांग को लेकर कामकाज ठप करा दिया। कर्मियों ने सुबह 8 बजे से 11 बजे तक काम ठप रखा। इस दौरान काम चालू कराने पहुंचे परियोजना के पीओ उमेश शर्मा के विरोध में वर्कशॉप कर्मियों ने घेराव कर नाराबाजी की। बाद में कार्मिक प्रबंधक संजीव कुमार द्वारा कर्मियों को पांच जून तक वेतन का भुगतान करने के आश्वासन दिए जाने पर कर्मी काम पर वापस लौट गए। काम ठप कराए कर्मियों ने बताया कि महीने के एक-दो तारीख को वेतन भुगतान कर दिया जाना चाहिए। पर कर्मियों को अब तक पेंमेंट स्लिप तक नहीं दिया गया है। इससे नाराज होकर काम ठप कराया गया। काम ठप कराने वालों में मजदूर नेता अरुण सिंह, सुनील सिंह, वर्कशॉप कर्मी अनिल बेदिया, शत्रुघ्नन तांती, दशरथ करमाली, नान्हू पाल, गोपाल प्रसाद, रासो सिंह, महादेव मांझी, झिरगी टोपो, चंद्रशेखर वर्मा, जगदीश राम , बैजनाथ यादव, सुशील शहाजरा, चारो मांझी, बिगन महतो, बिहारी, आनंद मुंडा आदि वर्कशॉप कर्मी शामिल थे। पीओ के एफआईआर कराने के कहने पर भड़के कर्मी रेलीगढ़ा पीओ उमेश शर्मा पर एक्सावेशन वर्कशॉप के कर्मी शुक्रवार को भड़क गए और घेराव कर उनके खिलाफ नारेबाजी करने लगे। हुआ यूं कि वर्कशॉप कर्मी वेतन भुगतान की मांग को लेकर शुक्रवार को काम ठप कराए थे। इसे चालू कराने पहुंचे पीओ उमेश शर्मा अपने चिर परिचित अंदाज में सुरक्षा प्रभारी उदय सिंह को काम रोकने वाले सभी कर्मी का नाम नोट करने और उनपर एफआईआर करने का निर्देश दिया। इसके बाद मामला गरम हो गया। वहां उपस्थित नेता और कर्मी नेता पीओ को घेर कर नारेबाजी करने लगे। तभी कार्मिक प्रबंधक संजीव कुमार वहां पहुंच गए और मजदूर को समझाने लगे, इस दौरान पीओ उमेश शर्मा मौका पाकर धीरे से वहां से खिसक गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Rallygadha employees stopped work on demand for salary payments