DA Image
20 सितम्बर, 2020|3:49|IST

अगली स्टोरी

सरकारी स्कूलों को विलय के नाम पर बंद करने का होगा विरोध: झामुमो

default image

प्रदेश कमेटी के निर्देश पर गुरुवार को झामुमो कार्यालय में जिला समिति की बैठक हुई। अध्यक्षता बिनोद किस्कू व संचालन बिनोद महतो ने की। शिक्षा के प्रति सरकार की गलत नीति का विरोध निर्णय लिया गया। सरकारी विद्यालयों को विलय करने के नाम पर स्कूल बंद करने की प्रक्रिया राज्य सरकार अपना रही है। राज्य में अब तक लगभग 6 हजार विद्यालय विलय के नाम बंद किए गए और 7 हजार विद्यालय विलय होने की प्रक्रिया में है। शिक्षा के अधिकार कानून का सरकार की ओर से खुलेआम उलंघन किया जा रहा है। सरकार के इस निर्णय से हजारों गरीब बच्चों का पठन पाठन प्रभावित हो रहा है। सरकार की इस गलत नीति का झारखंड मुक्ति मोर्चा विरोध करती है। जिला भर में पंचायत स्तर पर बंद होने वाले सभी स्कूल परिसर में 4 नवंबर, 5 नवंबर को प्रखंड कार्यालय और 6 नवंबर को जिला मुख्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन का निर्णय लिया गया। बैठक के पूर्व हेसपोड़ा के सक्रिय कार्यकर्ता दुर्गा हेंब्रोम के आकस्मिक दुर्घटना में निधन पर 2 मिनट मौन रख शोक व्यक्त किया गया। विरोध प्रदर्शन की तैयारी को लेकर कार्यकर्ताओं जिम्मेवारी दी गई। मौके पर भुनेश्वर महतो भुन्नू , खुर्शीद आलम, राजू साव, बरतु करमाली, कुंवर महतो, मोगा बेदिया, जग्गू करमाली, अरुण बनर्जी, सलीम खान, राजकुमार मांझी, मो फकरुद्दीन अंसारी, रुस्तम आदि मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Protest to close government schools in the name of merger JMM