DA Image
7 अगस्त, 2020|6:10|IST

अगली स्टोरी

जान जोखिम में डाल पुराना पुल से गुजरते है लोग, कभी भी हो सकता है हादसा

जान जोखिम में डाल पुराना पुल से गुजरते है लोग, कभी भी हो सकता है हादसा

1 / 2-हादसें को आमंत्रित कर रहा है अंग्रेजों के जमाने का पुराना पुलअग्रेजों के जमाने में 1930 में बना रामगढ़ दामोदर पुराना पुल खतरों को आमंत्रित कर रहा है। वर्ष 80 के दसक में हुए एक हादसें में दामोदर का ...

जान जोखिम में डाल पुराना पुल से गुजरते है लोग, कभी भी हो सकता है हादसा

2 / 2-हादसें को आमंत्रित कर रहा है अंग्रेजों के जमाने का पुराना पुलअग्रेजों के जमाने में 1930 में बना रामगढ़ दामोदर पुराना पुल खतरों को आमंत्रित कर रहा है। वर्ष 80 के दसक में हुए एक हादसें में दामोदर का ...

PreviousNext

अग्रेजों के जमाने में 1930 में बना रामगढ़ दामोदर पुराना पुल खतरों को आमंत्रित कर रहा है। वर्ष 80 के दसक में हुए एक हादसें में दामोदर का पुल क्षतिग्रस्त हो गया थ। इस दौरान तब नए दामोदर पुल का निर्माण हुआ है। जो वर्तमान समय दामोदर पुल को सड़क का लाइफ लाइन कहा जाता है। दामोदर नद पर नए पुल के निर्माण के बाद से ही पुराने पुल बेकार पड़ा है। एचएच 33 पर दामोदर पुल के बगल में ही स्थित पुराना दामोदर पुल है। जो पूर्व में हुई हादसें की याद दिलाता है। पुराने पुल की स्थिति इन दिनों बेहद खराब है। फिर भी जान जोखिम में डाल कर भी लोग पुराने पुल से आवा-गमन करते है। कभी भी यहां भयावह हादसा होने की संभावना से इंकार नही किया जा सकता है।

पहले यही था मुख्यमार्ग : किसी जमाने में रामगढ़-बिहार मार्ग को जोड़ने वाला दामोदर पुल ही मुख्य मार्ग था। पुराना दामोदर पुल अब बेकार होने सहित जीर्ण शीर्ण अवस्था में है। पुल की स्थिति न केवल व्यवस्था को मूंह चिढ़ाता है, बल्कि किसी भी समय हादसें को आमंत्रित कर रहा है। हालांकि इस पुराने पुल की अब जरुरत विभाग सहित सरकार को नहीं है। फिर भी जाने अंजाने में आम लोग इस पुल से गुजरते रहते है। नए दामोदर पुल पर कभी भी किसी तरह के हादसा होती है तब पुल पर जाम की स्थिति बनती है। वैसे समय में भी दो पहिया वाहन सवार पुराने पुल से गुजरते देखें जाते है। पुल की स्थिति इतनी भयावह बन चुकी है कि इस मार्ग से गुजरने वालों की रूह जरुर कांप जाती है। फिर भी आस पास बस्ती के लोग अक्सर ही पुराने पुल मार्ग का इस्तेमाल करते देखे जा सकते है। पुल से गुजने वाले लोग कहते है कि पुल से गुजरना खतरा तो है लेकिन शुबह-शाम दर्जनों लोग टहलते देखे जाते है।

पुल का एंगल-प्लेट लोहा होता है चोरी:

दामोदर का जर्जर पुराने पुल के बीचों बीच से लोहें का एंगल-प्लेट काटकर चोर ले गए। लोहा चोरों ने तो पुल की स्थिति और भी भयावह बना दी है। पुल के बीच का लोह एंगल- प्लेट कांट कर चोरी होने से पुलमार्ग काफी संकीर्ण हो गया है। फिर भी लोग दो पहिया वाहन से भी इस मार्ग पर चलते है। स्थिति चिंता का विषय बना है। यहां कोई हादसे का शिकार हुआ तो उपर से निचे 50 फीट लगभग दामोदर की धार में गिरेंगा। तब प्रशासन जगेगा और बचाव कें संसाधन की ओर ध्यान दिए जाएंगे। जबकि समय रहते पुराने पुल को डेंजर जोन के रूप में चिंहित करने अथवा पुल पर आने जाने वालों को चेतावनी देने की जरुरत है। किसी भी समय यहां भयावह हादसा होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:People pass through the old bridge putting their lives at risk accidents can happen anytime