More than half a dozen factories will be closed in Ramgarh from 01 August - एक अगस्त से रामगढ़ में बंद हो जाएंगी एक दर्जन से ज्यादा फैक्ट्रियां DA Image
13 दिसंबर, 2019|10:15|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक अगस्त से रामगढ़ में बंद हो जाएंगी एक दर्जन से ज्यादा फैक्ट्रियां

रामगढ़ में चल रही एक दर्जन से ज्यादा छोटी स्टील फैक्ट्रियां एक अगस्त से बंद हो जाएंगी। झारखंड सरकार से मिलने वाली बिजली का दर अधिक होने के कारण हर महीनें फैक्ट्रियों को हो रहे नुकसान को देखते हुए सभी फैक्ट्री संचालकों ने मंलगवार को हुई बैठक में यह निर्णय लिया। जिमखाना क्लब में आयोजित झारखंड स्टील फर्निशिंग की बैठक में यह निर्णय लिया गया।

बिजली बिल से फैक्ट्रियों को रहा हर महीने करीब 30 लाख का नुकसान :

राधेश्याम अग्रवालबैठक में मौजूद वैष्णवी फेरो टेक के संचालक राधेश्याम अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री झारखंड सरकार को स्टील उद्योग के संचालकों ने करीब चार महीने पहले अपनी समस्याओं से अवगत कराया था। यहां झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड से बिजली लेने पर फैक्ट्रियों को प्रति यूनिट 05 रुपये 50 पैसे की दर से भुगतान करना पड़ रहा है जबकि डीवीसी से होनी वाली आपूर्ति में बिजली का दर 02 रुपये 95 पैसा ही है। इस हिसाब से प्रति यूनिट फैक्ट्री को करीब दो रुपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है। जो महीने में करीब 30 लाख रुपये एक फैक्ट्री को पड़ता है। सारी समस्या से अवगत होने के बाद मुख्यमंत्री की ओर से आने वाले समय में उद्योगों के लिए राहत देने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन चार महीने गुजर जाने के बाद भी उन्हें कोई राहत नहीं मिली। स्टील उद्योग बिजली को अपने रॉ मैटिरियल के रूप में शामिल करती है। ऐसे में लगातार हो रहे घाटे ने उनकी कमर तोड़ दी है।

फैक्ट्रियों ने लगाया काम बंद करने का नोटिस:

बैठक के साथ ही एक अगस्त से गुरुनानक फेरो एलॉय, वैष्णवी फेरा टेक, ग्लोब स्टील, मैहर स्टील, मथुरा एलॉय, टीएनटी और चिंतपुरनी स्टील ने अपने प्लांट को बंद करने का नोटिस लगा दिया है। साथ ही बिजली बोर्ड को प्लांट का कनेक्शन काटने के लिए आवेदन भी करना शुरू कर दिया है। फैक्ट्री संचालकों के इस कदम से रामगढ़ में करीब 5 हजार कामगार सीधे बेरोजगार हो जाएंगे, वहीं करीब 25 हजार लोग इससे अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित होंगे।

डीवीसी से बिजली लेने के बाद चलेंगे प्लांट:

इस बीच बैठक में मौजूद गुरुनानक फेरा एलॉय के मेहुल बसंत, वैष्णवी फेरो टेक के राधेश्याम अग्रवाल, ग्लोब स्टीम के दीपक मेवाड़, मैहर एलॉय के बंटी बाबू, मथुरा एलॉय के दीपक जैन, गौतम जालान, टीएनटी के बिनोद अग्रवाल और चिंतपुरनी स्टील के योगेश माणिक ने बताया कि सभी फैक्ट्रियां डीवीसी से बिजली लेने के लिए आवेदन की है। लेकिन इसकी प्रक्रिया पूरी होने में काफी समय लगेगा। जबतक डीवीसी से बिजली नहीं मिलती फैक्ट्रियां बंद रहेगी।

झारखंड सरकार को डेढ़ सौ करोड़ के राजस्व को होगा नुकसान:

एक साथ आधा दर्जन से ज्यादा फैक्ट्रियों के बंद हो जाने से अकेल रामगढ़ जिले से राज्य सरकार को करीब डेढ़ सौ करोड़ का नुकसान होगा। इसमें जीएसटी, इनकम टैक्स समेत सरकार की ओर से लिये जाने वाले विभिन्न शुल्क शामिल हैं। इसके अलावा हर महीने में बिजली बिजली बिल के रूप में होने वाली कमाई भी बंद हो जाएगी।

झारखंड में एसोसिएशन से जुड़े हैं करीब 55 फैक्ट्रियां:

झारखंड स्टील फर्निशिंग एसोसिएशन से पूरे झारखंड में करीब 55 फैक्ट्रियां जुड़ी हुई है। राधेश्याम अग्रवाल ने बताया कि धीरे-धीरे प्रदेश भर में तमाम फैक्ट्रियां जहां जहां झारखंड बोर्ड से बिजली ली जाती है उसे बंद कर दिया जाएगा। जमशेदपुर और रामगढ़ में इसकी शुरूआत हो चुकी है।

चलती रहेगी डीवीसी से बिजली लेने वाली कंपनियां:

जिले में कुछ फैक्ट्रियां डीवीसी से बिजली लेकर अपने प्लांट को चला रही है। ऐसे फैक्ट्रियों पर इस फैसले का कोई असर नहीं पड़ेगा। इस संबंध में रुंगटा ग्रुप के अधिकारी ने बताया कि उनकी फैक्ट्रियों के फर्नेश डीवीसी की बिजली से चलती है, फिलहाल उनके प्रबंधन ने इस संबंध में कोई फैसला नहीं लिया है। उनकी फैक्ट्रियों का काम फिलहाल पूर्ववत चलता रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:More than half a dozen factories will be closed in Ramgarh from 01 August