Many factories of Industrial Area reached the closure - पतरातू की कई फैक्ट्रियां बंद होने की दहलिज पर पहुंची DA Image
12 दिसंबर, 2019|11:55|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पतरातू की कई फैक्ट्रियां बंद होने की दहलिज पर पहुंची

default image

एक ओर जहां सरकार विकास की गति को आगे बढ़ाने के लिए एक से बढ़कर एक काम कर रही है। साथ ही सरकार पतरातू और इसके आसपास के क्षेत्रों को उद्योग का हब बनाने के लिए बेहतर प्रयास कर रही है। यहां पर पीवीयूएन का सुपर थर्मल पावर प्लांट, पतरातू डैम पर्यटन स्थल का निर्माण करा रही है। जहां पर सैकड़ों लोगों को रोजगार मिलेगा। वहीं दूसरी ओर औद्योगिक क्षेत्र (रियाड़ा भूमि) पतरातू में कई छोटी-बड़ी फैक्ट्रियां स्थापित हो चुकी है। किंतु विडंबना यह भी है कि इस रियाड़ा और जियाड़ा भूमि में कई फैक्ट्रियां स्थापित करने के लिए जमीन आवंटित की गई है। किंतु फैक्ट्री नहीं लगाए जा रहे हैं। इसमें मुख्य रुप से शर्मा इलेक्ट्रिकल, दो ऐस ब्रिक्स फैक्ट्री, कैमिकल फैक्ट्री शामिल हैं। वहीं दूसरी ओर यहां की कई फैक्ट्रियों को कभी बंद किया जाता है तो कभी चालू किया जाता है। इसमें पाली हिल्स ब्यूरेज (बियर फैक्ट्री), गुप्ता इंडस्ट्रीज आदि शामिल हैं। जबकि बरनपुर सीमेंट फैक्ट्री को ठुकुर-ठुकुर चलाया जा रहा है। क्योंकि इस विशाल फैक्ट्री को जिस उद्देश्य से खोला गया था। वैसे हालत में नहीं चल पा रहा है। इसके अलावा द रॉयल्स को वर्षों से खोले जाने की लोग आश लगाए बैठे हैं। -इंटर लिंक फुड्स माह अक्टूबर से अस्थायी तौर पर होने वाला है बंद, प्रबंधन ने चिपकाया नोटिसरियाड़ा भूमि में वर्षों से स्थापित इंटर लिंक फुड्स माह अक्टूबर से अस्थायी तौर पर बंद होने वाला है। इसके लिए प्रबंधन की ओर से नोटिस चिपकाया गया है। नोटिस में प्रबंधन की ओर से बताया गया है कि इस फैक्ट्री में बनने वाले खाद्य की आपूर्ति का आदेश नहीं मिलने के कारण फैक्ट्री को अस्थायी तौर पर माह अक्टूबर से बंद होगा। प्रबंधन की ओर से यह भी कहा गया है कि पुन: फैक्ट्री चालू होगी। इसके लिए फैक्ट्री में कार्यरत सभी लोग सहायता प्रदान करें। मालूम हो कि अगर यह फैक्ट्री के बंद हो जाती है तो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रुप से काम करने वाले सैकड़ों लोग बेरोजगार हो जाएंगे। हालांकि प्रबंधन का कहना है कि इस फैक्ट्री को कुछ ही दिनों तक अस्थायी तौर पर बंद रखा जाएगा। इसके बाद फिर से खोला जाएगा। हालांकि वर्तमान समय में यह फैक्ट्री चालू हैं। दूसरी ओर यहां की एक ऐस ब्रिक्स फैक्ट्री सिर्फ आठ महीना चलने के बाद बंद हो चुका है। जिसके कारण यहां पर काम करने वाले दर्जनों मजदूर बेरोजगार हो चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Many factories of Industrial Area reached the closure