DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खसरा और रूबेला से बच्चों के लिए अमृत, अवश्य लगाए टीका : उपायुक्त

खसरा और रूबेला से बच्चों के लिए अमृत, अवश्य लगाए टीका : उपायुक्त

उपायुक्त कार्यालय सभागार में मंगलवार को खसरा और रूबेला अभियान को लेकर डीसी रामगढ़ राजेश्वरी बी की अध्यक्षता में बैठक की गई। बैठक का संचालन सिविल सर्जन डॉ मार्शल आइनंद ने किया। बैठक में डीसी ने कहा कि एमआर वैक्सीन के इस अभियान में सभी विभाग समन्वय स्थापित करते हुए अपना संपूर्ण योगदान दें। खसरा और रूबेला जैसी बीमारी से अपने बच्चों को बचाने के लिए इस अभियान की सभी को जानकारी दें। तैयारियों का जायजा लेने के उपरांत ही राज्य से आनेवाली टीम इस अभियान को चलाने की स्वीकृति प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि यह टीका घर-घर जाकर नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों को जानकारी दें कि टीकाकरण का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। बैठक में सीएस ने कहा कि भारत के सार्वभौमिक प्रतिरक्षण कार्यक्रम में खसरा व रूबेला के टीके को शामिल किया गया है। जल्द ही टीकाकरण शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों में जागरूकता की कमी है। 26 जून से इसे कैंपेन मोड में शुरू किया जाएगा और बाद में नियमित रूप में यह टीकाकरण उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि झारखंड देश का 23 वां राज्य होगा, जहां मीजल्स रूबेला कैंपेन चतुर्थ चरण में है। डॉ अरूण कुमार सब रिजीनल टीम लीडर झारखंड डब्लूएचओ ने खसरा रूबेला कैंपेन के विभिन्न पक्षों पर पावर प्लांइट प्रस्तुतिकरण के माध्यम से विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि 9 माह से लेकर 15 वर्ष तक के बच्चों को टीका दिया जाएगा। यह वैक्सीन सरकारी अस्पताल, आंगनबाड़ी केंद्र और स्कूलों में लगाया जाएगा। जिला आरसीएच पदाधिकारी सह नोडल अधिकारी एमआर डॉ अशोक कुमार पाठक ने कहा कि अभियान पांच सप्ताह का होगा। अभियान के प्रथम सप्ताह दो सप्ताह में सभी स्कूलों में टीकाकरण किया जाएगा। इसके बाद आंगनबाड़ी केंद्रों में टीकाकरण होगा। अंतिम सप्ताह छुटे हुए बच्चों को यह टीका दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Elixir for children, measles vaccine and rubella must be made: Deputy Commissioner