DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली व्यवस्था चरमराई, उपभोक्ता त्राहिमाम

बिजली व्यवस्था चरमराई, उपभोक्ता त्राहिमाम

पिछले चार दिनों से बरकाकाना क्षेत्र के उपभोक्ता बिजली विभाग के लचर व्यवस्था से त्राहिमाम हैं। बिजली गुल रहने से लोगों में त्राहिमाम मची है। शाम होते ही बाजारों में वीरानी छा जाती है। बिजली की किल्लत गृहणियों के लिए परेशानी का सबब बनी है। एक ओर पेयजल की किल्लत इन्हें परेशान कर रही है। वहीं टीवी पर मन पसंदीदा सीरियल से उन्हें वंचित रहना पड़ रहा है। लोगों के लिए इन्वटर और मोबाइल चार्ज करना भी मुश्किल हो गया है। बिजली की आंख मिचौनी से सबसे ज्यादा प्रभाव पढ़ाई करनेवाले बच्चों को भुगतना पड़ रहा है। उन्हें कैंडल और ढिबरी का सहारा लेना पड़ रहा है। वैसे बिजली नहीं रहने से व्यवसायी और ग्रामीण क्षेत्र के लोग सबसे ज्यादा त्रस्त हैं। क्षेत्र की जनता परेशान है। बरकाकाना क्षेत्र के कई इलाके में बिजली पिछले चार दिनों से नदारद है। जबकि शहरी क्षेत्र में आंखमिचौनी का खेल चल रहा है। ग्रामीण क्षेत्र के कंडेर, सिद्धवारकला, सिद्धवाखूर्द, सिउर, तेलियातू, मसमोहना, पीरी, चैनगड़ा, कोड़ी, कड़रू, दाड़ीदाग, बारीड़ीह, अरमादाग, जोबो, आदि इलाकों में पिछले चार दिनों से विद्युत आपूर्ति ठप है। बरकाकाना क्षेत्र में कब गई बिजली, कब आएगी बिजली, इसकी खबर भी लोगों को नहीं मिल पा रही है। बिजली विभाग अधिकारी और कर्मी फोन रीसीव नहीं करते हैं। इसके कारण बिजली विभाग के प्रति लोगों का आक्रोश पनपने लगा है। जो कि कभी भी आंदोलन का रूप ले सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Electricity cremation, consumer traymam