DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीतेगा सिल्ली-गोमिया, झूमेगा रजरप्पा

गोमिया और सिल्ली का खेवनहार कौन बनेगा इसका फैसला आज हो जाएगा। ताज का फैसला गुरुवार की दोपहर तक हो जाने का अनुमान लगाया जा रहा है। गुरुवार दोपहर तक इस बात का पता चल जाएगा कि गोमिया की जनता ने बबीता देवी, लंबोदर महतो या माधवलाल सिंह में से किसे चुना है? जबकि सिल्ली में आजसू सुप्रीमो को कमान मिलता है या सीमा देवी को जीताकर जनता अमित महतो को दोबारा कमान देती है? भले ही इन दोनों विधानसभा के भाग्य का फैसला रजरप्पा से कई किमी दूर होना है। यहां के हार जीत का असर रजरप्पा कोयलांचल में दिखना तय है। जीत की घोषणा भले ही बोकारो और रांची में होगा। जश्न की झलक रजरप्पा में दिखना तय है। जीत के बाद फटाखे फूटेंगे, रंग गुलाल उड़ेंगे, मिठाईयां बटेंगी। इसकी तैयारी भी की गई है। गोमिया विधानसभा में चुनाव लड़ रहे लम्बोदर महतो और पूर्व विधायक योगेंद्र महतो की पत्नी बबीता देवी का सीधा लगाव रजरप्पा कोयलांचल से है, ऐसे में इन दोनों में से किसी एक की जीत पर जश्न निश्चित है। जबकि कोयलांचल आजसू का गढ़ माना जाता है, और आजसू सुप्रीमो सुदेश कुमार महतो खुद चुनाव मैदान में है। कई समर्थक चुनाव के दौरान जमकर पसीना भी बहाये है। ऐसे में इनकी जीत पर श्री महतो के समर्थक जमकर थिरकने की योजना बना रहे है। बरहाल चंद घन्टों के बाद ताज का फैसला होगा और देखना है की इस ताज को जनता ने किसके सिर पहनाया है।

सिल्ली व गोमिया विधानसभा के परिणाम का कोयलांचल के लोगों का बेसब्री से इंतजार है। आजसू के गोमिया प्रत्याशी लम्बोदर महतो और सिल्ली प्रत्याशी सुदेश कुमार महतो के भारी संख्या में समर्थक रामगढ़ जिले में हैं। झामुमो प्रत्याशी बबिता देवी का पैतृक घर चितरपुर के मुरुबन्दा में है। इनके पति पूर्व विधायक योगेंद्र महतो के सैकड़ों समर्थक हैं। ऐसे में सबको विधानसभा परिणाम का इंतजार है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:election result come tommorow