ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News झारखंड रामगढ़गोला में बाल विवाह पर रोक, मायूस लौटे बाराती

गोला में बाल विवाह पर रोक, मायूस लौटे बाराती

--गोला के उपरखखरा गांव में अग्रगति संस्था के पहल पर रोका गया बाल विवाह, दुल्हन के बिना वापस घर लौटा...

गोला में बाल विवाह पर रोक, मायूस लौटे बाराती
हिन्दुस्तान टीम,रामगढ़Fri, 23 Feb 2024 02:00 AM
ऐप पर पढ़ें

गोला, निज प्रतिनिधि। गोला थाना क्षेत्र के चोकाद पंचायत के उपरखखरा गांव में एक और नाबालिग लड़की की शादी कराने का मामला सामने आया है। हालांकि सही समय पर पहुंची पुलिस व बाल संरक्षण की सहयोगी अग्रगति संस्था की टीम ने शादी को रुकवा दिया। बाल विवाह रुकवाने के लिए जब टीम पुलिस के साथ गांव पहुंची तो दुल्हा-दुल्हन पक्ष के लोगों में बेचैनी फैल गई। शादी की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई थी। लेकिन अंतिम वक्त पर शादी रुक जाने पर दुल्हा-दुल्हन पक्ष के लोगों के खुशियों पर पानी फिर गया। आधार कार्ड के अनुसार दूल्हा और दुल्हन दोनों नाबालिग हैं।
---क्या है पूरा मामला

गोला थाना क्षेत्र के उपरखखरा गांव निवासी विकास मांझी पिता जीवन मांझी का विवाह थर्मल बोकारो के ओरमो कुबरा पत्थर गांव की एक युवती के साथ शादी तय हुई थी। दुल्हा पक्ष के लोग एक सप्ताह पूर्व ही युवती को अपने घर में लाकर रखे हुए थे। निर्धारित तिथि बुधवार को लड़की के परिजन लड़के के गांव में ही गुपचूप ढंग से दोनों की शादी कर रहे थे। इसी बीच बाल संरक्षण से जुड़कर काम कर रहे अग्रगति संस्था को इसकी भनक लग गई। संस्था ने इसकी जानकारी तत्काल सबंधित अधिकारी को दिया। इसके बाद पुलिस के सहयोग से अग्रगति संस्था की टीम ने गांव में जाकर शादी रोक दिया। इसके बाद पुलिस ने दोनों पक्षों को बालिग होने तक शादी नहीं करने की चेतावनी देते हुए दोनों पक्षों से अंडरटेकिंग फॉर्म भरवाया। लड़का लड़की के परिजनों से दोनों के बालिग होने पर ही शादी करने का हलफनामा लिया और बारात को बिना दुल्हन के ही बेरंग लौटना पड़ा। मौके पर संस्था के प्रकाश करमाली, भगीरथ महतो, रीता देवी सहित पुलिस के जवान व गांव के गणमान्य लोग मौजूद थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें