DA Image
6 अप्रैल, 2020|8:31|IST

अगली स्टोरी

बूढापहाड़ पर नियंत्रण, अरविन्द के दस्ते को छोड़ भागे टॉप माओवादी

बूढापहाड़ पर नियंत्रण, अरविन्द के दस्ते को छोड़ भागे टॉप माओवादी

झारखंड-बिहार सीमावर्ती क्षेत्र में सक्रिय माओवादी कमांडर राकेश भुइयां के दस्ते को 15 दिनों में ख़त्म करने का लक्ष्य सुरक्षाबलों को दिया गया है। सीआरपीएफ के आईजी संजय लाटेकर और झारखंड पुलिस के आईजी अभियान आशीष बत्रा ने यह लक्ष्य तय करते हुए पलामू पुलिस और सीआरपीएफ को इसपर केंद्रीत होकर काम करने का निर्देश दिया है।

दोनों आईजी गुरुवार को जीएलए कॉलेज स्थित सीआरपीएफ 134 बटालियन मुख्यालय में झुनझुना पहाड़ मुठभेड़ में शामिल जवान और अफसरों का हौसला बढ़ाने और पुरस्कृत करने पहुंचे थे। आठ फरवरी को झुनझुना पहाड़ में हुए मुठभेड़ में दो नक्सली मारे गए थे, जबकि एक महिला नक्सली समेत दो नक्सली गिरफ्तार हुए थे।

टीम को मिला चार लाख रुपए नकद का पुरस्कार: आईजी संजय लाटेकर और आशीष बत्रा ने मुठभेड़ के लिए कमान्डेंट सतीश कुमार लिंडा, एसपी इन्द्रजीत महथा और मुठभेड़ का नेतृत्व कर रहे अभियान एसपी अरुण कुमार सिंह और उपकमान्डेंट संजय मोहंती समेत पूरी टीम को चार लाख रुपए का पुरस्कार दिया, साथ ही बड़ा खाना के लिए 20 हजार नगद दिए। इस दौरान दोनों अधिकारियों ने जवानों से कहा कि राकेश भुइयां के दस्ता में बचे सदस्यों को खत्म कर देना है। मौके पर डीआईजी विपुल शुक्ला, सीआरपीएफ डीआईजी जयंत पॉल, कमान्डेंट आतिश कुमार लिंडा, एसपी इंद्रजीत महथा, 112 बटालियन के कमान्डेंट रमेश कुमार पाण्डेय, टूआईसी अरविन्द त्रिपाठी, रवि रंजन, छतरपुर डीएसपी शम्भू प्रसाद सिंह, प्रशिक्षु डीएसपी विमलेश कुमार त्रिपाठी समेत कई अधिकारी मौजूद थे।

झुनझुना पहाड़ में माओवादी अजय भी मारा गया

आठ फरवरी को झुनझुना पहाड़ मुठभेड़ में माओवादी अजय भुइयां भी मारा गया था। आईजी संजय लाटेकर ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि अगले 15 से 20 दिनों इलाका शांत हो जाएगा। अभियान आईजी आशीष बत्रा ने बताया कि झुनझुन पहाड़ मुठभेड़ के बाद नक्सलियों की कमर टूट गई है। पुलिस और सुरक्षाबल इलाके में तैनात है।

सहायक कमांडेंट समेत चार को मिला पराक्रम पदक

समारोह में बूढापहाड़ में अक्तूबर-नवबर 2017 में चलाये गये अभियान चार्ली नाइट में भाग लेने वाले एक सहायक कमांडेंट समेत चार जवानों को पराक्रम पदक मिला। आईजी संजय लाटेकर और आशीष बत्रा ने 112 बटालियन के एचएल ख्यांगते, निलेश कुमार, गोपाल सिंह यादव और एक अन्य को पराक्रम पदक दिया गया। झुनझुना पहाड़ मुठभेड़ के लिए अभियान एसपी अरुण कुमार सिंह, उपकमान्डेंट सजाय मोहंती, पाटन थाना प्रभारी प्रमोद कुमार, नौडीहा बाजार थाना प्रभारी दयानन्द शाह, सीआरपीएफ एसआई अनुज कुमार त्यागी, झुनझुना पहाड़ मुठभेड़ के बाद एरिया कमांडर राजेश यादव की गिरफ्तारी के लिए छतरपुर डीएसपी शम्भू प्रसाद सिंह, प्रशिक्षु डीएसपी विमलेश कुमार त्रिपाठी, बिश्रामपुर थाना प्रभारी चन्द्रशेखर कुमार समेत 65 सीआरपीएफ और पुलिस अधिकारियों को पुरस्कृत किया गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Top Maoists fleeing Arvind's squad, control over Budhapur