DA Image
19 नवंबर, 2020|7:44|IST

अगली स्टोरी

हरिहरगंज शहर के मुख्य छठ घाट पर लगा है गंदगी का अंबार

हरिहरगंज शहर के मुख्य छठ घाट पर लगा है गंदगी का अंबार

1 / 2महापर्व छठ की तैयारी पलामू जिले के बिहार सीमावर्ती शहर हरिहरगंज में भी तेज हो गयी है। हरिहरगंज बाजार में सुप-दउरा सहित पूजन सामग्री खरीदने के लिए हरिहरगंज और पिपरा प्रखंड ही नहीं पड़ोसी राज्य बिहार...

हरिहरगंज शहर के मुख्य छठ घाट पर लगा है गंदगी का अंबार

2 / 2महापर्व छठ की तैयारी पलामू जिले के बिहार सीमावर्ती शहर हरिहरगंज में भी तेज हो गयी है। हरिहरगंज बाजार में सुप-दउरा सहित पूजन सामग्री खरीदने के लिए हरिहरगंज और पिपरा प्रखंड ही नहीं पड़ोसी राज्य बिहार...

PreviousNext

महापर्व छठ की तैयारी पलामू जिले के बिहार सीमावर्ती शहर हरिहरगंज में भी तेज हो गयी है। हरिहरगंज बाजार में सुप-दउरा सहित पूजन सामग्री खरीदने के लिए हरिहरगंज और पिपरा प्रखंड ही नहीं पड़ोसी राज्य बिहार के कुटुंबा और टंडवा प्रखंड क्षेत्र के आठ-दस पंचायत के लोग पहुंचते हैं। तेजी से हरिहरगंज का हुआ शहरीकरण के कारण अब पारंपरिक छठ घाट छोटे पड़ने लगे हैं फलत: कई नये छठ घाट का रूख भी श्रद्धालु करने लगे हैं। परंतु अब भी हरिहरगंज की उत्तरी सीमा पर बहने वाली बटाने नदी छठ घाट पर काफी संख्या में उपासक और श्रद्धालु पहुंचते हैं। महापर्व को लेकर छठ घाट पर साफ-सफाई की तैयारी भी शुरु हो गई है। हरिहरगंज थाना से एक किलोमीटर दूर बटाने नदी छठ घाट पर गंदगी का अंबार लगा हुआ है। थाना से बटाने नदी तक जाने वाली पीसीसी सड़क के बाद नदी में उतरने का करीब 200 मीटर लंबा रास्ता मिट्टी का है जो वर्तमान में काफी जर्जर स्थिति में है। इस रोड का महापर्व से पहले मरम्मत बेहद जरूरी है वरना वर्ष छठ व्रतियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। छठ घाट पर भी गंदगी का ढेर लगा हुआ है, जिसकी सफाई का काम फिलवक्त शुरू नहीं किया गया है। नदी के पानी में भी गंदगी काफी है। कई जगह पर बड़-बड़े गड्ढे बन गये हैं। हरिहरगंज के नवयुवक सांस्कृतिक समिति के सदस्य हर वर्ष छठ घाट की साफ-सफाई एवं छठ व्रतियों की सुविधा सुलभ कराने के लिए पहल करते रहे हैं। लेकिन समिति ने भी अभी तक छठ घाट की साफ-सफाई शुरु नहीं की है। अगर जल्द घाट पर साफ-सफाई का काम शुरू नहीं किया गया तो संभावना है कि महापर्व के दौरान पूरी तरह घाट की सफाई मुश्किल हो जायेगा। हरिहरगंज के बीडीओ सह नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी जागो महतो ने बताया कि छठ महापर्व को लेकर सभी छठ घाट का जल्द निरीक्षण किया जायेगा। शहरी क्षेत्र के छठ घाट पर साफ-सफाई भी कराया जायेगा। उन्होंने कहा की कोरोना को लेकर सरकार के गाइडलाइन का पालन करते हुए पारंपरिक परंतु सुरक्षित तरीके से छठ महापर्व मनाया जायेगा।हरिहरगंज पूर्वी पंचायत के मुखिया सरोज प्रसाद ने बताया कि हर वर्ष छठ घाट की साफ-सफाई करते है,अभी छठ घाट का निरीक्षण नहीं किये है, लेकिन जल्द घाट पर घुमकर साफ-सफाई की शुरु की जायेगी। जर्जर रोड का भी मरम्मत कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि छठ व्रतियों को बेहतर सुविधा देने का प्रयास किया जायेगा। हरिहरगंज शहर के निवासी सह कटैया हाईस्कूल की प्रधानाध्यापिका अभिलाषा कुमारी ने बताया कि हरिहरगंज के बटाने नदी छठ घाट पर हर वर्ष छठ पर्व में जाते हैं। छठ घाट पर हर वर्ष विधि-व्यवस्था ठीक रहता है। लेकिन इस वर्ष कोरोना संक्रमण को लेकर समिति के लोगों को विशेष व्यवस्था करने की जरुरत होगी। छठ व्रतियों के लिए इस वर्ष कपड़ा बदलने के लिए ज्यादा संख्या में टेंट लगाने की आवश्यकता है।व्यवसायी सुनिल स्वर्णकार ने बताया कि हरिहरगंज का बटाने छठ घाट इस क्षेत्र के लिए काफी महत्वपूर्ण घाट है। हरिहरगंज छठ घाट पर हरिहरगंज से सटे बिहार के महाराजगंज सहित कई इलाका के करीब दस हजार की संख्या में उपासक व श्रद्धालु महापर्व के निमित इकट्ठा होते हैं। इस वर्ष कोरोना को देखते हुए विशेष साफ-सफाई एवं सुविधा छठ व्रतियों के लिए करना होगा।

नवयुवक सांस्कृतिक समिति के सदस्य निरंजन प्रसाद ने बताया कि हरिहरगंज पूजा समिति छठ घाट पर छठ व्रतियों को बेहतर सुविधा देने के लिए सदैव तत्पर रहा है, समिति के सदस्यगण घाट का निरीक्षण भी किये है, घाट के पास जर्जर रोड एवं आसपास मे लगे गंदगी को हटाने के लिए जल्द काम शुरू करने की तैयारी है।सामाजिक कार्यकर्ता राजीव रंजन ने बताया कि लोक आस्था का महापर्व छठ आने वाला है, हरिहरगंज के कई छठ घाट का निरीक्षण भी किया है, छठ घाट पर छठ व्रतियों को बेहतर सुविधा मिले इसके लिए वे प्रयासरत है। जरुरत के अनुसार साफ-सफाई एवं अन्य सुविधा भी घाट पर उपलब्ध कराने का काम किया जायेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:There is a mess of dirt on the main Chhat Ghat of Hariharganj city