DA Image
22 फरवरी, 2020|9:11|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माओवादी हिंसा के शिकार मोहन गुप्ता व सुरज सोनी का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलिन

default image

पलामू जिले के पिपरा बाजार में शनिवार की शाम में नक्सलियों द्वारा पिपरा बाजार पंचायत समिति के प्रमुख संध्या देवी के पति मोहन गुप्ता एवं फल विक्रेता सुरज सोनी की हत्या से उत्पन्न खौफ का माहौल अब भी बना हुआ है। पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में रविवार को शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद उसे सोमवार की दोपहर करीब दो बजे पिपरा बाजार लाया गया। शव पहुंचते ही पिपरा में कोहराम मच गया। सुरज का पांच माह पहले ही शादी हुई थी। घटना के बाद ही पूरा पिपरा बाजार स्वतः स्फूर्त बंद है। सभी पार्टियों के चुनाव कार्यालय भी सोमवार को बंद रहे। पिपरा प्रखंड के अंदर कोई भी प्रत्याशी का चुनाव प्रचार भी नहीं हुआ। घटना में गंभीर रूप से घायल आनंद प्रताप सोनी के लड़का आकाश सोनी जो पिपरा हाईस्कूल के वर्ग नौ का छात्र है और सुनिल सोनी का लड़का गुड्न सोनी जो वर्ग सात का छात्र है, ने बताया कि रविवार की रात में ही दोनों को इलाज के लिए रांची के रिम्स ले जाया गया है जहां दोनों का इलाज चल रहा है। फिलवक्त दोनों की स्थिति नाजुक बनी हुई है। इधर एसपी अजय लिंडा ने बताया कि हरिहरगंज से एक माओवादी सपोर्टर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। फिलवक्त पुलिस अनुसंधान कर रही है। वहीं घटना के प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार शनिवार की शाम करीब साढ़े पांच बजे मोहन गुप्ता चाय पीने घर से निकले थे और सुरज सोनी के फल दुकान पर बैठे थे। अंधारीबाग की ओर से बाइक सवार तीन लोग आये और बाइक से उतरकर मोहन गुप्ता को टारगेट करके गोलियां चलाना शुरू कर दी। गोली सुरज सोनी और दो अन्य लडकों को भी लगा। बाद में हथियारबंद नक्सली हवाई फायर व पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अंधारीबाग भाग गये। घटना के बाद हुसैनाबाद के निवर्तमान विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता, भाजपा समर्थित प्रत्याशी सह हुसैनाबाद के जिला पार्षद विनोद कुमार सिंह, पूर्व विधायक संजय कुमार सिंह यादव, कर्नल संजय सिंह, मुखिया उमेश साव, राजन सिंह, विजय मिश्र, कमलेश यादव, विकास यादव आदि परिजनों से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त किया। दोनों शव का अंतिम संस्कार गांव के ही श्मशान घाट पर किया गया। डीएसपी शंभू कुमार सिंह ने बताया की घटनास्थल से आठ खोखा व झोला में प्रिंटेड माओवादी का पर्चा मिला है। प्रशासन कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। भाजपा समर्थित प्रत्याशी विनोद सिंह ने मौके पर कहा कि लोकतंत्र में उग्रवाद का कहीं जगह नहीं है। उन्होंने कहा कि वे पिड़ित परिवार के साथ हैं। फोटो-15-घटना के बाद पिपरा बाजार में पसरा सन्नाटा

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The mortal body of Mohan Gupta and Suraj Soni victims of Maoist violence merge into five elements