DA Image
21 अक्तूबर, 2020|3:49|IST

अगली स्टोरी

शहरी जलापूर्ति योजना को हैंडओवर करने का मांगा प्रस्ताव

default image

पलामू जिले के मेदिनीनगर नगर निगम के आयुक्त दिनेश प्रसाद ने पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता को पंपुकल से जलापूर्ति मेदिनीनगर सिटी में जलापूर्ति को लेकर कड़ा पत्र लिखा है। साथ ही कहा है कि अगर अगर शहरवासियों को पेयजल उपलब्ध कराने में पेयजल एवं स्वच्छता विभाग सक्षम नहीं है तो संपूर्ण एसेट्स व दायित्व के साथ योजना नगर निगम को हैंडओवर करने का प्रस्ताव दें ताकि नगर विकास एवं आवास विभाग से उक्त योजना का हैंडओवर लेने की अनुमति प्राप्त करते हुए आवंटन की मांग की जा सके। पत्र लिखकर नगर आयुक्त ने कहा है कि मेदिनीनगर शहरी क्षेत्र में पेयजलापूर्ति का कार्य पेजयल एवं स्वच्छता विभाग करती है। 2001-02 में डालटनगंज शहरी जलापूर्ति फेज-1 का डीपीआर पेयजल एवं स्वच्छता विभाग ने ही तैयार करायी थी और देख-रेख में ही योजना का निर्माण कराया गया है। कार्यकारी एजेन्सी पेयजल एवं स्वच्छता विभाग ही था। इस योजना के लिए करीब 12 करोड़ रुपये मेदिनीनगर नगर निगम ने उपलब्ध कराया था। 2005 में शहरी जलापूर्ति शुरू हुई थी परंतु योजना में जैकवेल का निर्माण नहीं किया गया। 1960 में निर्मित पुराने कुएं से आपूर्ति की जा रही है। शहरी जलापूर्ति योजना के देखरेख के लिए भी समय-समय पर आवंटन प्राप्त होता रहता है और ऑपरेशन तथा रखरखाव के लिए संवेदक भी रखा गया है। नगर निगम भी मांग के अनुरूप राशि, जेसीबी, मजदूर उपलब्ध कराता है बावजूद इसके शहरी जलापूर्ति में असहयोगात्मक रवैया अपनाया जाता है तथा जानकारी दिये जलापूर्ति बाधित की जाती है। इससे आम जनता एवं शहरवासियों में आक्रोश होता है। उपर से नगर निगम पर असहयोग का आरोप मढ़ा जाता है जिससे महापौर, उपमहापौर व नगर आयुक्त की क्षवि धूमिल होती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Proposal sought to handover urban water supply scheme