DA Image
26 जनवरी, 2020|11:20|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विद्यार्थी परिषद का 20वां प्रांतीय अधिवेशन की तैयारी पूरी, संचालन समिति ने संभाली जिम्मेवारी

default image

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का 20वां झारखंड प्रदेश अधिवेशन की तैयारी गुरुवार को पूरी कर ली गयी। अधिवेशन की संचालन समिति गुरुवार को पलामू पहुंचकर पूरी जिम्मेवारी संभाल ली है। स्वागत समिति के अध्यक्ष सह मेदिनीनगर के प्रमुख व्यवसायी सोनू सिंह नामधारी ने आयोजन स्थल मेदिनीनगर के शिवाजी मैदान में गुरुवार की शाम में विद्यार्थी परिषद के मार्गदर्शक सह आपातकाल के समय आंदोलन को नेतृत्व दे चुके प्रो. कमलाकांत मिश्र, प्रो. सुभाष चंद्र मिश्र, क्षेत्रीय संगठन मंत्री निखिल रंजन, पूर्व प्रदेशमंत्री अमित तिवारी, प्रो. विजय रंजन शुक्ल आदि के साथ अधिवेशन कार्यालय, सोशल मीडिया कार्यालय व प्रेस कार्यालय का उदघाटन किया गया। शुक्रवार को सभी जिलों के प्रतिनिधि पलामू पहुंच जायेंगे। इसी दिन के डेढ़ बजे पलामू से भाजपा सांसद विष्णुदयाल राम और झारखंड विधानसभा के पहले अध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे जबकि शनिवार को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू अधिवेशन का औपचारिक उदघाटन करेंगी। इसी दिन संगठन का प्रांतीय प्रतिवेदन पेश किया जायेगा और संगठन का चुनाव भी कराया जायेगा। पहला प्रस्ताव भी शनिवार को ही आयेगा। वहीं रविवार को कार्यपद्धति की प्रासंगिकता व स्वरूप पर विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री केएन रघुनंदन का उदबोधन होगा। साथ ही प्रतिनिधियों के साथ नगर में शोभायात्रा व खुला अधिवेशन भी होगा। जबकि 20 अक्तूबर को झारखंड की चुनौतियां व समाधान विषय पर रामदत्त चक्रधर का उदबोधन होगा। सम्मेलन में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राष्ट्रीय महामंत्री सुश्री निधि त्रिपाठी भी विशेष रूप से भाग लेंगी। अधिवेशन कार्यालय उदघाटन के अवसर पर स्वागत समिति के अध्यक्ष श्री नामधारी ने कहा कि जिम्मेवारी संभालने से पहले उनके मन में काफी दुविधा थी परंतु यहां की कार्यप्रणाली संस्कार आदि देखने से महसूस हुआ यह क्षण उनके जीवन के लिए मील का पत्थर साबित होगा। जबकि क्षेत्रीय संगठन मंत्री निखिल रंजन ने कहा कि विद्यार्थी परिषद उस संगठन का नाम है जहां परिसर के साथ-साथ राष्ट की नीतियों पर भी विचार निर्माण किया जाता है। विद्यार्थी इससे जुड़कर काफी कुछ सीखते हैं। परिषद् तय करता है कि विद्यार्थियों का ऐसा निर्माण हो जो भारत की बर्बादी के नारे नहीं लगायें, महिलाओं के सम्मान को चोट नहीं पहुंचायें, सामाजिक समरसता को मजबूत करने में अपना योगदान दें। उन्होंने कहा कि यह अधिवेशन झारखंड के लिए सशक्त नेतृत्व तैयार करेगा जो भविष्य में इस प्रांत को तेज विकास के रास्ते पर लेकर बढ़ेगा। मौके पर प्रो. केके मिश्रा ने संगठन व प्रो. एससी मिश्रा ने कार्यप्रणाली की चर्चा कर विद्यार्थियों को प्रोत्साहित किया। मौके पर प्रांत संगठन मंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ल, प्रो.अरविंद गोस्वामी, प्रो संजीव मिश्रा राजन, प्रो. केसी झा, अविनाश वर्मा, ज्योति पांडेय, रोहित पाठक, सतीश तिवारी, राहुल देव दुबे, श्याम बाबू, अमित पांडेय, राजीव रंजन देव पाण्डेय, विनीत पाण्डेय, राजकिशोर सिंह, समशेर सिंह, राहुल सिंह चेरो, गोविंद मेहता, नवीन कुमार, रोहित देव, प्रभात सिंह, स्नेहा गुप्ता, अमृता भट्ट, राहुल भट्ट, रविशंकर तिवारी, राहुल राज, पप्पू जायसवालआदि बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

श्री गुरु नानक देव पंडाल में होगा सम्मेलन : मेदिनीनगर शहर के ऐतिहासिक शिवाजी मैदान में अपने प्रांतीय अधिवेशन के निमित व्यवस्थित किये गये शहीद नीलांबर-पीतांबर नगर में अधिवेशन कार्यक्रम के लिए श्री गुरुनानक देव पंडाल का निर्माण किया गया है। श्री गुरुनानक देव के 550वीं प्रकाश उत्सव के उपलक्ष्य में बनाये गये इस पंडाल में विभिन्न जिलों से पहुंच रहे 1500 प्रतिनिधि एक साथ बैठकर अधिवेशन की कार्यवाही में भाग लेंगे। अधिवेशन स्थल पर श्री गुरुनानक देव, शहीद नीलांबर-पीतांबर, माता सरस्वती, स्वामी विवेकानंद, भगवान वंशीधर श्रीकृष्ण आदि की प्रतिमा लगायी जा रही है। नीलांबर-पीतांबर नगर का प्रवेश द्वार पलामू किले के जैसा बनाया जा रहा है जबकि मंच के पृष्ट पर पलामू किला और सामने में बेतला नेशनल पार्क को दिखाने का प्रयास किया गया है। प्रदर्शनी में विद्यार्थी परिषद के प्रदेश भर की गतिविधि व पलामू की सांस्कृति-सामाजिक झलक को प्रदर्शित किया जा रहा है।

दो साल पहले स्वर्ण जयंती मना चुका है पलामू में परिषद: पलामू में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अपनी स्थापना का 50वां वर्षगांठ दो साल पहले मना चुका है। जबकि 2008 में प्रांतीय सम्मेलन की मेजबानी भी कर चुका है। 90 के दशक में परिषद की पलामू ईकाई पूर्णकालिक कार्यकर्ताओं की बैठक की भी मेजबानी कर चुका है। आपातकाल के समय प्रो. केके मिश्रा के नेतृत्व में बड़ी संख्या में विद्यार्थी व शिक्षक जेल की सजा काट चुके हैं। इसके कारण पलामू में विद्यार्थी परिषद की नींव काफी गहरी है। अधिवेशन को लेकर शहर को भी बैनर, पोस्टर, फ्लैक्स व दीवार लेखन से सजाया गया है। विभिन्न जिलों से पहुंच रहे परिषद के कार्यकर्ताओं का स्वागत स्टेशन व बस स्टैंड पर की जा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Preparation of 20th Provincial Conference of ABVP was completed Steering Committee takes over charge