DA Image
23 जनवरी, 2021|3:05|IST

अगली स्टोरी

पक्की सड़क के लिए मोहताज हैं देवरी खुर्द पंचायत के कई गांव

default image

हुसैनाबाद। प्रतिनिधि

पलामू जिले के हुसैनाबाद प्रखंड अंतर्गत देवरी खुर्द पंचायत के जपला देवरी खुर्द गांव तक जाने वाली मुख्य सड़क आजादी के बाद भी पक्की सड़क नहीं बना। पथ की हालत काफी जर्जर हो गई है। उक्त सड़क पर छोटी-बड़ी वाहनों का चलने की बात तो दूर, उस पर पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। जिससे लोगों को सात किमी. दूरी तय कर अनुमंडल मुख्यालय जाना पड़ता है। इस पंचायत की जनसंख्या करीब साढ़े पांच हजार है। जपला से चनैनी होते हुए बनकट गांव तक सड़क का निर्माण कार्य जिला योजना मद से कराया गया था। परंतु देवरी खुर्द पंचायत सचिवालय तक करीब ढेड़ किमी. सड़क का निर्माण नहीं होने से उक्त गांव के लोग सड़क सुविधा से वंचित है। देवरी खुर्द के युवकों ने आधा किमी. सड़क का निर्माण पूर्व में श्रमदान से कराया था। परंतु डेढ़ किमी. सड़क नहीं बनने से लोग सात किमी. दूरी तय कर हुसैनाबाद अनुमंडल मुख्यालय पहुंचते है। समाचार के अनुसार जपला देवरीकला होते हुए देवरी खुर्द जाने में सात किमी. दूरी तय कर जाते है और लोगों को किराया भी ज्यादा देना पड़ता है। ऐसे में ग्रामीणों को दोहरी मार झेलना पड़ रहा है। शहरी क्षेत्र से सटे होने के बावजूद यह गांव सड़क सुविधा से वंचित है। इस सड़क से बनकट, सोनपुरवा, एराजी मजुराहा, बलिविगहा, पुरनाडीह आदि गांव प्रभावित है। साथ ही इस सड़क से सबसे ज्यादा परेशानी स्कूल आने जाने वाले छात्र- छात्राओं को होती है। ग्रामीणों ने पलामू डीसी शशिरंजन और स्थानीय विधायक कमलेश कुमार सिंह से अधूरे सड़क का निर्माण कार्य कराने की मांग की है। समाजसेवी राजू मेहता उर्फ एसपी मेहता, मानवाधिकार मिशन के अध्यक्ष उपेन्द्र मेहता समेत कई ग्रामीणों ने डीसी से सड़क निर्माण कार्य कराने की मांग की है। इधर विधायक कमलेश कुमार सिंह ने कहा है कि उक्त सड़क की हालत दस वर्षों से खराब है। परंतु अब यह सड़क जर्जर हालत में नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि उक्त सड़क का प्राक्कलन बनाया गया

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Many villages of Deori Khurd Panchayat are fascinated for paved road