DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चों को प्रतिदिन स्कूल भेजने का लिया संकल्प

बच्चों को प्रतिदिन स्कूल भेजने का लिया संकल्प

31 मई की रात में पलामू की कई पंचायतों में रात्रि शिक्षा अखड़ा (चौपाल) सजाया गया। इसमें पंचायतों के ग्रामीणों ने आगे बढ़कर भाग लिया। महिलाओं की भागीदारी काफी रही। सभी अभिभावकों ने अपने-अपने बच्चों को प्रतिदिन स्कूल भेजने का इसमें संकल्प लिया। डीएसई अरविंद कुमार ने कहा कि सरकार ने बच्चों के कई योजनाएं संचालित कर रही हैं। इस कारण अभिभावक अपने बच्चों को नियमित स्कूल भेजे। सभी बच्चों को नि:शुल्क पोशाक व किट, जूते-मोजे, बैग, कॉपी आदि भी दिये जा रहे हैं, परंतु ऐसा देखा जा रहा है कि बच्चे जब स्कूल आते हैं तो बाल बिखरा हुआ रहता है। वहीं पूर्ण रूप से स्कूल ड्रेस में नहीं आते हैं। अभिभावकों से आग्रह किया कि बच्चों को स्कूल भेजने के पहले अपने बच्चों को तैयार करने के लिए आधा घंटा का समय निकाले और अपने बच्चों को पूर्ण गणवेष में स्कूल भेजें। स्कूल के शिक्षकों को भी निर्देश दिया कि अगर किसी बच्चा का बाल बिखरा हुआ है तो उसे झाड़ दें। यह भी बताया कि अगर शर्ट का बटन खुला हुआ है, तो उसे लगायें और नियमित रूप से सुसज्जित रूप से बच्चों को स्कूल आने के प्रेरित करें। डीएसई ने कहा कि बुधवार की रात में लेस्लीगंज प्रखंड के पूर्णाडीह, विश्रामपुर के केतात, चैनपुर के पतरिया खुर्द, पाटन के गाड़ीखास के अलावा अन्य पंचायतों में भी रात शिक्षा अखड़ा का आयोजन किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kids have to go school daily, resolution got in palamu