DA Image
23 अक्तूबर, 2020|5:57|IST

अगली स्टोरी

हुल दिवस पर मोर्चा ने किया विचार गोष्ठी

default image

बेरोजगार संघर्ष मोर्चा ने हूल दिवस पर जिला कार्यालय बारालोटा में विचार गोष्ठी का आयोजन किया। उपस्थित कार्यकर्ताओं ने सिद्धू-कान्हू, चांद-भैरव की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित किया। विचार गोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए मोर्चा अध्यक्ष उदय राम ने कहा कि झारखंड के महान सपुतों सिद्धू-कान्हू, चांद-भेरव ने अंग्रेजों के शोषण, दमन, अन्याय, अत्याचार के खिलाफ 30 जून 1855-56 को क्रांति का बिगुल फूंका था। कालांतर में यही स्वतंत्रता संग्राम 1857 का रूप ले लिया। चारो भाइयों ने कभी भी अन्याय के साथ समझौता नहीं किया। सिद्धू-कान्हू ने अंग्रेजों के साथ गुरिल्ला युद्ध किये थे। अंग्रेजों को छक्के छुडा दिया था। शिव नारायण साव ने कहा कि आजादी की लड़ाई में आदिवासियों के संघर्ष गाथा और उनके बलिदान को याद करते हुए सिद्धू-कान्हू, चांद-भैरव की स्मृति में 30 जून को हूल दिवस मनाया जाता है। मौके पर श्याम पाठक, प्रदुम्न तिवारी, प्रदीप राम, मनोज कुमार ठाकुर, रामनरेश महतो, दीपक कुमार, प्रेम कुमार समेत कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Front organized seminar on Hull Day