DA Image
25 जनवरी, 2021|10:58|IST

अगली स्टोरी

सड़क दुर्घटना में जवान की मौत से एसोसिएशन क्षुब्ध, कहा कि पुरानी गाड़ियों से करना पड़ता है स्कॉर्ट

default image

मेदिनीनगर। हिन्दुस्तान टीम

नया साल 2021 का पहला दिन पलामू के लिए सुखद नहीं रहा। गत वर्ष भी 150 से अधिक सड़क दुर्घटनाएं हुई है। सड़क दुर्घटनाओं में एक पुलिस जवान सहित पांच लोगों की मौत से नये साल के जश्न का माहौल गम में बदल गया। वहीं सांसद को स्कॉर्ट करने में दुर्घटनाग्रस्त हुई पुलिस वाहन में घायल होकर अपने एक साथी के असमय मौत और दो अन्य के गंभीर रूप से घायल होने खुशी पुलिस मेंस एसोसिएशन के पदाधिकारी व सदस्यों ने सांसद के प्रति भी नाराजगी जतायी। एसोसिएशन के सदस्यों ने कहा कि अब वीवीआईपी के पास हाईस्पीड गाड़ियां होती है और जवानों को पुरानी व कम स्पीड की गाड़ियों से स्कॉट करना पड़ता है। वीवीआईपी के साथ चलने के प्रयास में ही ऐसी दुर्घटना हो जाती है। छतरपुर में भी पुलिस का रक्षक वाहन दुर्घटनाग्रस्त हुआ है जो कम स्पीड वाली ही गाड़ी है। दूसरी तरफ घटना के बाद भी सांसद ने घायलों का कुशल क्षेम जानने का प्रयास नहीं किया। एसोसिएशन ने घायल जवानों को समुचित इलाज की सुविधा सुलभ कराने की मांग की।

दूसरी तरफ छतरपुर में कउअल पुल के पास ट्रक की चपेट में आकर तीन किशोरों की मौत हो जाने के बाद ग्रामीणों ने एनएच-139 को ढाई घंटे तक जाम कर रखा। इसके कारण जाम स्थल के दोनों ओर करीब तीन किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतार लग गई। पीड़ित परिवार सहित ग्रामीण मुआवजे की मांग को लेकर देर तक अड़े रहे। छतरपुर स्टैटिक मजिस्ट्रेट कामेश्वर बेदिया और सीओ राकेश कुमार तिवारी पहुंच कर लोगों को सरकारी प्रावधानों के अनुकूल सहायता प्रदान करने का आश्वासन देकर जाम हटावाया। छतरपुर में पांच घंटे के अंदर सड़क दुर्घटना में यह चौथी मौत है। शहरवासियों द्वारा लगातार आबादी क्षेत्र में वाहनों की गति नियंत्रण पर रोक लगाए जाने की मांग की जाती रही है लेकिन अब तक स्थानीय प्रशासन द्वारा धरातल पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है जिसे लेकर भी शहरवासियों में काफी आक्रोश है काफी आक्रोश है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Association upset with the death of a young man in a road accident said that old vehicles have to be scouted