34 students and six teachers from two NPU colleges will go to Goa - एनपीयू के दो कॉलेजों के 34 विद्यार्थी और छह शिक्षक जाएगें गोवा DA Image
18 फरवरी, 2020|12:13|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनपीयू के दो कॉलेजों के 34 विद्यार्थी और छह शिक्षक जाएगें गोवा

default image

एनपीयू के दो कॉलेजों के 34 विद्यार्थी और छह शिक्षक 20 मार्च के पहले एक भारत श्रेष्ठ भारत तय कार्यक्रम के तहत गोवा जाएगें। गोवा वैसे कॉलेज जिनका नैक से मूल्यांकन हो चुका है और रूसा से अनुदान मिलता है,वैसे कॉलेजों के विद्यार्थी और शिक्षक ही गोवा जा सकेंगे। इसे लेकर एनपीयू के रजिस्ट्रार प्रो. जयंत शेखर ने संबंधित कॉलेज के प्राचार्य और शिक्षकों के संग बैठक की। उन्होंने कहा कि एनपीयू से योध सिंह नामधारी महिला कॉलेज और गोपीनाथ सिंह कॉलेज के विद्यार्थी और शिक्षक गोवा जाएगें। रजिस्ट्रार कहा कि गोवा के भी दो कॉलेजों के 34 विद्यार्थी और छह शिक्षक पलामू आएगें। एनपीयू के विद्यार्थी और शिक्षक कब गोवा जाएगें इसकी तिथि अभी नहीं की गई है,जल्द ही तिथि भी तय कर दिया जाएगा। एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत पांच दिनों तक विद्यार्थी गोवा और गोवा के विद्यार्थी पलामू में रहेंगे। एनपीयू से गोवा जाने वाले विद्यार्थी गोवा के कॉलेज के विद्यार्थियों के घरों में पांच दिनों तक रहेंगे। इसी तरह गोवा से आने पलामू आने वाले विद्यार्थी एनपीयू के कॉलेज के विद्यार्थियों के घरों में पांच दिनों तक रहेंगे। इसी तरह शिक्षक भी गोवा के शिक्षकों के घर में रहेंगे और गोवा से आने वाले शिक्षक एनपीयू के शिक्षकों के घरों पर पांच दिनों तक रहेंगे। दोनों कॉलेजों के एक-एक शिक्षक को नोडल अफसर मनोनीत करना है। रजिस्ट्रार ने दोनों कॉलेज के प्राचार्यो को 17-17 विद्यार्थियों और तीन-तीन शिक्षकों का चयन कर सूची समर्पित करने का निर्देश दिया है। ताकि चयनित सूचि राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान को भेजा जा सके।

पांच दिनों तक विद्यार्थी एक दूसरे के रहन-सहन और अन्य गतिविधियों से होंगे अवगत-

पांच दिनों तक गोवा जाने वाले विद्यार्थी और गोवा से पलामू आने वाले विद्यार्थी भाषा का आदान प्रदान करेंगे। एक दूसरे के सांस्कृतिक गतिविधियों, आस-पास गांवों का भ्रमण कर स्थानीय लोगों के रहन-सहन,खान-पान आदि से परिचित होंगे। विद्यार्थियों को दार्शनिक स्थलों का भ्रमण करेंगे। एक दूसरे के खान-पान और उत्सवों में हिस्सा लेंगे। साथ कार्यक्रमों में भाग लेने वाले विद्यार्थी सेल्फी तस्वीर के साथ पांच दिनों में क्या अनुभव किया उसपर अपना रिपोर्ट विश्वविद्यालय को समर्पित करेंगे। बैठक में मुख्य रूप से योध सिंह नामधारी महिला कॉलेज की प्राचार्या डॉ मोहिनी गुप्ता, डॉ सीमा कुमारी, गोपीनाथ सिंह कॉलेज की प्राचार्या डॉ संयुक्ता कुमारी, डॉ शीला कुमारी, गढ़वा कॉलेज के प्राचार्य डॉ अखिलानंद पांडेय, एनपीयू के सीसीडीसी डॉ एके पांडेय, एनपीयू रूसा सेल के को-ऑडिनेटर डॉ विमल कुमार सिंह आदि उपस्थित थे।

एनपीयू के विद्यार्थियों को गोवा जानने और समझने का है बेहतर अवसर-

एनपीयू के रजिस्ट्रार प्रो. जयंत शेखर ने कहा कि यहां के विद्यार्थियों को गोवा जाने का यह सुनहरा अवसर है। उन्होंने गोवा जाने वाले चयनित विद्यार्थियों के अभिभावकों से भी आग्रह किया है कि अपने बच्चों को बाहरी दुनिया को समझने-जानने के लिए अवसर दें,ताकि विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास हो सके। उन्होंने गोवा जाने के लिए चयन होने वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों से अपने बच्चों को प्रोत्साहित करने की अपील की है। उन्होंने कहा के विद्यार्थियों के साथ शिक्षक में जाएगें इस कारण निर्भिक होकर अपने बच्चों को गोवा जाने के लिए मानसिक रूप से तैयार करें।

फोटो- 7-एक भारत श्रेष्ठ भारत तय कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए कॉलेज के प्राचार्यो और शिक्षकों के साथ बैठक करते एनपीयू के रजिस्ट्रार प्रो. जयंत शेखर।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:34 students and six teachers from two NPU colleges will go to Goa