अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुआवजा राशि में जबरन हिस्सा मांगने पर केस

प्रशासन द्वारा कोयला खनन के लिए अर्जित की गई जमीन के बदले रैयत को मिली करीब 23 लाख रुपए मुआवजा राशि में जबरन हिस्सा मांगने के विवाद में पुलिस ने नौ आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। यह घटना पचुआड़ा - रांगा के अमड़ा टोला के रैयत शिवलाल किस्कू के साथ सोमवार को घटित हुई है। इस मामले में रैयत की पत्नी बहामुनी मूर्मू ने स्थानीय थाने में शिकायत दर्ज करायी है । घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने बीते सोमवार को गांव पहुंचे और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। मार्शल किस्कू, बुधेश्वर किस्कू, परमे किस्कू, जतन किस्कू, मोतीलाल किस्कू, लुबीन किस्कू, छोटा मिस्त्री किस्कू,ऑफिसर किस्कू, गोमेस किस्कू सभी नौ आरोपी पीड़ित के रश्तिेदार हैं और अमड़ा टोला के ही निवासी हैं। थाना प्रभारी रामचंद्र राम ने बताया कि शिवलाल को वर्ष 2014 में ही करीब 23 लाख रुपए मुआवजा राशि मिला था। सभी आरोपियों ने रुपए बांटने का दवाब बना रहे थे । ये लोग उसे रुपए बांटने की मानसिक - शारीरिक तौर पर प्रताड़ित कर रहे थे। जानकारी मिलते ही सबों को दबोच लिया गया और मामला दर्ज कर मंगलवार को न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Case on demanding forcible share in compensation amount