ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड लोहरदगामतदान में पुरूषों से आगे निकली लोहरदगा की महिलाएं

मतदान में पुरूषों से आगे निकली लोहरदगा की महिलाएं

चुनावी महापर्व के चौथे और झारखंड में पहले चरण के मतदान में मतदाताओं ने उत्साह के साथ भाग लिया। लोहरदगा संसदीय क्षेत्र के लोहरदगा विधानसभा क्षेत्र...

मतदान में पुरूषों से आगे निकली लोहरदगा की महिलाएं
हिन्दुस्तान टीम,लोहरदगाTue, 14 May 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

लोहरदगा संवाददाता।चुनावी महापर्व के चौथे और झारखंड में पहले चरण के मतदान में मतदाताओं ने उत्साह के साथ भाग लिया। लोहरदगा संसदीय क्षेत्र के लोहरदगा विधानसभा क्षेत्र में 70.04 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इसमें करीब 34 प्रतिशत महिला और 32 प्रतिशत पुरुष मतदाता शामिल हैं।
पूरे लोकसभा क्षेत्र में 66.45 प्रतिशत मतदान हुआ। जिसमें से कुल 14,41,302 मतदाताओं में 7,13,911 पुरुष मतदाता और 7,27,387 महिला मतदाताओं व अन्य में चार मतदाताओं में से इस बार कुल 9,57,690 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। 4,58,507 पुरुष ( 64.22 प्रतिशत) और 4,99,182 महिला मतदाताओं ने (68.62 प्रतिशत) और एक अन्य ने मतदान किया।

लोहरदगा के कई मतदान केन्द्रों में 80 फ़ीसदी से अधिक मतदान हुआ है। इसमें भंडरा प्रखंड के बूथ नंबर 300 में 81.7 और 301 में 81.11 प्रतिशत मतदाताओं ने अपना मत डाला।

लोहरदगा में इस बार मतदाता का रुझान पार्टियों के प्रति ध्रुवीकरण वाली स्थिति दिखी। हिंदू मतदाता भाजपा के साथ मुस्लिम मतदाता और क्रिश्चियन मतदाता कांग्रेस के साथ दिखा, तो आदिवासी मतदाताओं में बिखराव दिखा। हालांकि झामुमो के बागी विधायक निर्दलीय प्रत्याशी चमरा लिंडा के पक्ष में अधिकांश आदिवासी मतदाताओं ने मतदान किया है। आदिवासियों का मत भाजपा और कांग्रेस को भी मिला है। यही वजह है कि भाजपा लोहरदगा, विशुनपुर, गुमला, सिसई और मांडर तमाम क्षेत्रों में बढ़त की स्थिति में है। दूसरे और तीसरे स्थान के लिए कशमकश की स्थिति है। सुबह सात बजे से पहले ही मतदान केन्द्रों में मतदाताओं की भीड़ लग गई थी। शहर के नॉर्मल स्कूल और कुटमू मतदान केंद्र में एवीएम खराब होने के कारण मतदाता और मतदान कर्मी दोनों परेशान रहे। हालांकि आधे घंटे के अंदर इस समस्या का हल निकाल लिया गया। लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र और लोहरदगा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में महिला मतदाताओं की संख्या अधिक है। इसका प्रभाव मतदान केंद्रों में भी देखने को मिला। पूरे संसदीय क्षेत्र में जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया मतदान का प्रतिशत बढ़ता गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।