ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड लोहरदगा2019 के मुकाबले चार प्रतिशत कम हुआ मतदान

2019 के मुकाबले चार प्रतिशत कम हुआ मतदान

लोहरदगा संसदीय क्षेत्र में साल 2019 के आम चुनाव में 69.9 प्रतिशत मतदाताओं ने मतदान किया था। वर्ष 2024 में मतदान का प्रतिशत अनुकूल वातावरण होने,...

2019 के मुकाबले चार प्रतिशत कम हुआ मतदान
हिन्दुस्तान टीम,लोहरदगाTue, 14 May 2024 08:30 PM
ऐप पर पढ़ें

लोहरदगा, संवाददाता।
लोहरदगा संसदीय क्षेत्र में साल 2019 के आम चुनाव में 69.9 प्रतिशत मतदाताओं ने मतदान किया था। वर्ष 2024 में मतदान का प्रतिशत अनुकूल वातावरण होने, गर्मी की तपिश कम होने के बावजूद मतदान प्रतिशत लगभग चार प्रतिशत गिर गया है।

लोहरदगा में तापमान सोमवार को लगभग 32 डिग्री सेल्सियस था। पर फीलिंग 29 डिग्री वाला था। वातावरण में नमी 40 प्रतिशत से अधिक थी। इसलिए मतदान कर्मियों के साथ मतदाताओं को भी काफी राहत महसूस हुई। यही वजह है कि धूप में मतदाता पंक्तिबद्ध होकर अपने लोकतांत्रिक कर्तव्यों का निर्वहन करते देखे गए।

लंबी-लंबी कतारें लोहरदगा संसदीय क्षेत्र के बूथों में रहीं और 65 प्रतिशत से अधिक मतदान होना अपने आप में काफी खास है। पूरे संसदीय क्षेत्र से चार लाख से अधिक लोग रोजी रोजगार के लिए दूसरे प्रदेशों में पलायन कर जाते हैं। झारखंड के सबसे छोटा जिले होने के बावजूद लोहरदगा से ही एक लाख से अधिक लोग पलायन करते हैं।

इस बात पर तब मोहर लगी जब कोरोना कल में बाहर से एक लाख से अधिक मजदूर अपने घरों को लौटे थे। गुमला बड़ा जिला है और मांडर विधानसभा क्षेत्र के पांच प्रखंडों के लोग भी बड़ी संख्या में रोजी रोजगार के लिए दूसरे प्रदेशों में जाते हैं। कुल मिलाकर 14 लाख 41302 वोटरों वाले इस संसदीय क्षेत्र में चार लाख से अधिक लोग तो पलायन ही किए हुए हैं। ऐसे में 65 से 70 प्रतिशत मतदान होना निश्चित रूप से लोकतांत्रिक व्यवस्था को सशक्त बनाने और सुखद अनुभूति देने वाला है। इस दृष्टिकोण से देखे तो साढ़े नौ लाख से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें