DA Image
13 जुलाई, 2020|8:17|IST

अगली स्टोरी

मोबाइल शोरूम में चोरी कर आग लगाई, दो करोड़ का नुकसान

default image

लोहरदगा अलका सिनेमा परिसर स्थित जिले के सबसे बड़े मोबाइल शोरूम फर्स्ट चॉइस में दो नकाबपोश चोरों ने 21 और 22 अप्रैल की रात्रि में चोरी की बड़ी घटना को अंजाम दिया। चोरी के बाद चोरों ने शोरूम को फूंक दिया। इससे फर्स्ट चॉइस के संचालक को करीब दो करोड रुपये का नुकसान हुआ है। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 10 घंटे के अंदर ही एक अपराधी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। जानकारी के मुताबिक 21 अप्रैल के रात्रि में करीब 11 बजे पुलिस के पेट्रोलिंग जीप को देखकर चोर दुकान के निकट छुप गया। जीप के पार होते ही शटर का ताला तोड़ा।

मोबाइल चुराने के बाद दोबारा आए आग लगाने

शोरूम में घुसकर पहले कैमरे को तिरछा किया। फिर वह रखें वीवो,सैमसंग, रियल- मी, नोकिया, टेक्नो, जिओ, एमआई के करीब 1000 मोबाइल सेट, काउंटर में रखे नकदी और एक डब्बे में रखे क्वाइन को भी एक झोले में चोरों ने डालकर अपने साथ दो बड़े बैग और एक बड़े थैले में भरकर करीब 12 बजे दोनों चोर वहां से निकल लिये। इसके बाद चोर करीब ढाई घंटे बाद फिर से शोरूम में प्रवेश किया। इस बार चोरों के हाथ में ट्रक का बड़ा ट्यूब था। इसे लेकर दोनों अंदर आए अंदर आए। वहां रखे बिछावन, मॉनिटर को एक जगह इकट्ठा किया। उसी ट्यूब को रखा। फिर उसमें ज्वलनशील पदार्थ डालकर उसमें आग लगा दिया। इस घटना से बचे कुचे मोबाइल तो जल ही गए। साथ में शोरूम परिसर में लगे दो एसी, तीन प्रिंटर, दो कंप्यूटर और 55 इंच का एलसीडी जल गया। शोरूम में करीब 20 लाख रुपये का फर्नीचर था। वह पूरी तरह स्वाहा हो गया।

सोचे-समझे षडयंत्र का हिस्सा है वारदात:मनीष सिंह

आग लगाने की घटना को अंजाम देने के लिए जब चोर शोरूम में दुबारा आए तब उन्हें सिर्फ आठ मिनट का ही समय उन्हें लगा। संचालक मनीष सिंह ने आरोप लगाया, कि यह सोचे-समझे षडयंत्र का हिस्सा है। यह चोरी नहीं है, इस चोरी के पीछे शातिर दिमाग है। जो बदला लेने के नियत से किया गया है।श्री सिंह बताया कि उनके बगल में कपड़े का दुकान था। जिसको 23 जनवरी को किसी ने जलाने का प्रयास किया था। बाद में दुकानदार द्वारा कपड़े निकाल कर ले गए थे। मनीष ने बताया कि उन लोगों ने कहा था, कि बगल का दुकान जल गया। फिर मोबाइल दुकान कैसे बच गया? श्री सिंह ने कहा कि यह इसी षडयंत्र का हिस्सा है।

गैरेज से चुराये टूल्स, फिर तोड़ा शटर

इसके पूर्व चोरों ने करीब 200 फीट की दूरी पर नाले के किनारे स्थित तीन छोटे-छोटे गैरेजों ताले तोड़े और यहीं से सब्बल जैसा लिफ्टर, रेती, बीपी ब्लेड और अन्य सामान लेकर आए थे। यह गैरज अबूजर कुरैशी उर्फ डबलू जो पत्ती का काम करता है। इसके यहां से लिफ्टर लाया था। इसके बगल में शाहबाज खान और अफताब कुरैशी के भी दुकान के शटर चोरों ने तोड़ दिए थे। ताला और शटर तोड़ने के लिए यही से चोरों हथियार जुगाड़ किया। तीनों लोगों के द्वारा ताला तोडे जाने की शिकायत पुलिस से की है। चोरी और आग लगाने की घटना सीसीटीवी में कैद हो गई इसी के आधार पर अपराधी की पहचान हो पाई। बुधवार को सुबह अखबार बांटने वाले होकर 4:45 बजे एजेंसी से निकले, तो शोरूम से धुआं उठ रहा था। वापस जाकर एजेंसी के निलेश गुप्ता को इसकी जानकारी दी। इनके द्वारा ही शोरूम के रवि और मनीष और पुलिस के साथ अग्निशमन सेवा को जानकारी दी गई। दो अग्निशमन सेवा की गाड़ियां मौके पर पहुंच कर आग पर करीब साढे सात बजे काबु पाया।

थानेदार से लेकर डीआईजी तक पहुंचे जांच में

घटना की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है, कि सूचना मिलते ही सबसे पहले थाना प्रभारी राणा जयप्रकाश और तुरंत बाद एसडीपीओ जितेंद्र कुमार सिंह मौके पर पहुंचे। थोड़ी देर बाद ही पुलिस कप्तान प्रियदर्शी आलोक और कुछ घंटे बाद रांची से डीआईजी अमोल विष्णु होमकर भी मौके पर पहुंच गए। शाम को डीएसपी मुख्यालय परमेश्वर प्रसाद ने भी मामले की इंक्वायरी की। मौके पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

कई कांडों में वांछित है आरोपी

शहर के फर्स्ट चॉइस मोबाइल दुकान में चोरी और आगजनी की घटना का उद्भेदन करते हुए पुलिस ने 10 घंटे के भीतर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।लोहरदगा थाने में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में एसपी प्रियदर्शी आलोक ने इस संबंध में बताया कि वारदात 21- 22 अप्रैल को रात 11 से दो के बीच अंजाम दिया गया। इसके आरोपी इस्लामनगर लोहरदगा निवासी मकबूल अंसारी के पुत्र अफरोज अंसारी उर्फ विक्की को गिरफ्तार किया है। अपराधी ने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। विक्की ने पुलिस को बताया कि चोरी करने के बाद आगजनी की घटना को इसलिए अंजाम दिया, क्योंकि इसके सहयोगी अपराधी का चोरी करते वक्त नकाब खुल गया था। उसे डर था, कि सीसीटीवी फुटेज से उनकी पहचान हो जाएगी। इस वजह से चोरी के बाद शोरूम में आग लगा दिया। कांड में लिप्त दूसरी अपराधी के बारे में पुलिस को जानकारी मिली है। वह फरार है। इसकी गिरफ्तारी और चोरी किए गए सामान की बरामदगी के लिए पुलिस छापामारी कर रही है। गिरफ्तार अपराधी के पास से तीन दिन पहले वीर शिवाजी चौक से ही महावीर मोबाइल दुकान में चोरी किए गए मोबाइल बरामद हुए हैं। गिरफ्तार अपराधी अफरोज अंसारी उर्फ विक्की के विरुद्ध सदर थाना कांड संख्या 68/14 और 248/17 में केस दर्ज है। इसमें वह पहले भी दोबार गिरफ्तार होकर जेल जा चुका है। इसका साथ ही भी पूर्व में जेल जा चुका है उसका आपराधिक इतिहास है। एसपी ने इस बात का खंडन किया आग लगाने की घटना के पीछे 23 जनवरी से जुड़ा मामला है। यह पूरी तरह बेबुनियाद और निराधार है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Stolen fire in mobile showroom loss of two crores