ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड लोहरदगाएमजी नरेगा की राज्य लोकपाल इंदू तिवारी ने घटनास्थल का मुआयना किया

एमजी नरेगा की राज्य लोकपाल इंदू तिवारी ने घटनास्थल का मुआयना किया

लोहरदगा सेन्हा थाना क्षेत्र के डांडू अम्बाटोली में कूप निर्माण के दौरान हुए हादसे के उपरांत शुक्रवार को मनरेगा लोकपाल इंदु तिवारी ने घटना स्थल का...

एमजी नरेगा की राज्य लोकपाल इंदू तिवारी ने घटनास्थल का मुआयना किया
हिन्दुस्तान टीम,लोहरदगाSat, 25 May 2024 01:30 AM
ऐप पर पढ़ें

लोहरदगा। लोहरदगा सेन्हा थाना क्षेत्र के डांडू अम्बाटोली में कूप निर्माण के दौरान हुए हादसे के उपरांत शुक्रवार को मनरेगा लोकपाल इंदु तिवारी ने घटना स्थल का जायजा लिया। घटनास्थल पर उन्होंने सम्बंधित पंचायत कर्मियों को कड़ी फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि जांचोपरांत दोषियों के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। योजना सम्बंधित दस्तावेज की मांग रोजगार सेवक और पंचायत सेवक से की। परंतु मनरेगा पंचायत कर्मियों द्वारा दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराने पर लोकपाल ने कहा कि ग्रामसभा सबसे ऊपर है। जिसके माध्यम से योजना का चयन किया जाता है और मजदूरों को ससमय रोजगार मुहैया कराया जाता है। पीड़ित परिवार को सरकारी प्रावधान के अनुसार मुआवजा दिए जाने की बात कही। मुखिया, पंचायत सेवक, रोजगार सेवक से योजना संबंधी का अभिलेख मांगा गया। बारीकी से जांच करने की बात कही गई।

उन्होने कहा कि मनरेगा योजना गांव पंचायत व जिला के मजदूरों के पलायन पर रोक लगाने के लिए कानून बनाया गया है। पंचायत गांव के मजदूरों को गांव स्तर पर ही रोजगार मुहैया कराने का प्रावधान है। लेकिन मनरेगा कर्मियों की लपारवाही के कारण आये दिन इस तरह की घटना सुनने व देखने को मिलता है। साथ ही वैसे कूप निर्माण योजना को निरीक्षण करने तथा अप्रिय घटना घटित होने का संभावना हो वैसे कूप निर्माण को बंद करने का निर्देश भी दिया गया।

विदित हो कि मनरेगा योजना के तहत कुआं खुदाई व पटाई का कार्य आरंभ था। जिसमें कुएं की मिट्टी धंसने से गुरूवार को चार मजदूर की मौत हो गई थी। जिसकी सूचना आग की तरह जिला व राज्य में फैल गई। सूचना के उपरांत जिला व प्रखंड प्रशासन द्वारा बचाव कार्य आरंभ कर दिया गया था। लेकिन कुएं की गहराई लगभग 20-25 फिट होने के कारण मिट्टी निकासी करने में काफी समय लग गया। जब तक मिटटी को हटाया तब तक मिट्टी से दबे मजदूरों की मौत हो चुकी थी।

मौके पर पंचायत मुखिया दिलीप कुमार उरांव, जेई संजीत कुमार, रोजगार सेवक, पंचायत सचिव सहित ग्रामीण मौजूद थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।