DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › लोहरदगा › खनन के लिए जमीन देने वाले रैयतों को मिले रोजगार--सुखैर भगत
लोहरदगा

खनन के लिए जमीन देने वाले रैयतों को मिले रोजगार--सुखैर भगत

हिन्दुस्तान टीम,लोहरदगाPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 03:10 AM
खनन के लिए जमीन देने वाले रैयतों को मिले रोजगार--सुखैर भगत

लोहरदगा। संवाददाता

पाखर बांग्ला पाट बाक्साइट माइंस क्षेत्र में छोटानागपुर बाक्साइट वर्कर्स यूनियन इंटक की बैठक 31 अगस्त को यूनियन अध्यक्ष सुखैर भगत की अध्यक्षता में हुई। जिसमें पाखर बाक्साइट माइंस क्षेत्र के मजदूरों, रैयतों व स्थानीय ग्रामीणों शामिल हुए। श्री भगत ने कहा कि कम्पनी को खनन के लिए जमीन देने वाले रैयतों के परिवार के अलावा भी स्थानीय शिक्षित बेरोजगारों को भी कम्पनी रोजगार मुहैया कराए। जिससे पलायन की समस्या रुकेगी। माइंस क्षेत्र के लोगों को रोजगार भी मिलेगा। जो इस क्षेत्र के लोगों का मौलिक अधिकार है। पहाड़ी क्षेत्र के भोले भाले-लोग कम्पनी का चक्कर लगाते रहते हैं। कंपनी का रवैया मजदूरों और रैयतों के प्रति पक्षपात पूर्ण रहता है। चन्द लोगों को काम देकर अपना पल्ला झाड़ लेता है। जो अब नहीं चलेगा।

यहां के शिक्षित बेरोजगारों को हर हाल में रोजगार उपलब्ध कराना होगा।

वरिष्ठ नेता शकील अहमद ने कहा कि कम्पनी को अपनी नीति और नीयत साफ रखनी चाहिए। मजदूरों का वाजिब हक देना होगा।हम अपनी कीमती जमीन कम्पनी को खनन के लिए देते हैं। परन्तु खनन के बाद नियमानुसार लेवल कर किसान को वापस लौटना है। पर कम्पनी रेजिंग के बाद उसी हाल में छोड़ देता है। इसके लिए कम्पनी पर दबाव बनाया जायेगा। इस अवसर पर यूनियन नेता शोहराब अंसारी, हकीम अंसारी, सुखनाथ नागेसिया, बिजेंद्र पाहन, निर्मल गुप्ता, मुनेश्वर भगत, लालिंदर नागेसिया, बिरेंद्र नागेसिया, सोमनाथ नागेसिया, किसनाथ नागेसिया, चमरा नागेसिया, महेश नागेसिया, राजकुमार नागेसिया मुन्ना नागेसिया, केश्वर नागेसिया आदि मौजूद थे।

संबंधित खबरें