DA Image
28 जनवरी, 2021|3:13|IST

अगली स्टोरी

मठ- मंदिर चर्च समेत अन्य धर्म स्थलों में लोग इबादत, प्रार्थना, पूजा- अर्चना करेंगे

default image

लोहरदगा।संवाददाता

लोहरदगा जिले में नौ वर्ष 2021 के जश्न को लेकर युवाओं की टोलियां वे जहां तैयारी पूरी कर ली है। वही यहां के प्रकृति के गोद में स्थित जलप्रपातों,नदियों, जंगलों और वादियां मानो दिल खोलकर पर्यटकों के स्वागत के लिए बाहें फैलाए हुए। लोहरदगा के जलप्रपात दक्षिण कोयल नदी के बेसिनों, मठ- मंदिर चर्च समेत अन्य धर्म स्थलों में लोग इबादत, प्रार्थना, पूजा- अर्चना के साथ नए साल के पहले दिन की शुरुआत करने की तैयारी कर रखा है। कुछ लोगों का मानना है, कि इस कोविड काल में अपने घरों में ही लोग रहकर नए साल की नई उमंगे मनाएंगे, तो कुछ लोग यहां के पिकनिक स्पाटों में जाने को लेकर तैयार हैं। प्रशासन रात से ही चौकन्ना है। एसडीओ अरविंद कुमार लाल ने गाइडलाइन जारी किया है। होटल, रेस्टोरेंट आदि में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो इसको लेकर उन्होंने ताकिद किया है।

गाइडलाइन बनानेवाले ही कर रहे उल्लंघन--

हालांकि न तो सड़क पर कोविड का अनुपालन हो रहा है। और न ही किसी सार्वजनिक स्थान पर दरअसल यहां के जननेता, मंत्री, विधायक, सांसद बडे अधिकारी सभी बड़ी-बड़ी बैठकर कर रहे हैं, तो जनता क्यों गाइडलाइन का पालन करेगी? हालांकि यह गलत है? पर राह दिखाने वाला ही भटक जाए, तो फिर राही का क्या होगा?

जिले के कई मंदिरों और गिरजाघरों में नये साल की स्वागत को लेकर खास तैयारी की गई है। लोग दिल खोलकर नए साल की स्वागत कर वर्ष 2020 के दर्द को भूलना चाहते हैं।

हालांकि कुछ संगठन इसे अलंग नौ वर्ष बताते हुए इस पर सहभागिता न करने की बात भी कही है। इन लोगों का कहना था कि मंदिर में तो हम संकल्प मार्गशीर्ष माह के कृष्ण पक्ष तृतीया का ही संकल्प करेंगे, तो फिर नौ वर्ष कैसे हुआ।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:People will offer prayers prayers prayers in other shrines including the temple and temple