ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड लोहरदगाकैरो और भंडरा में हाथियों के पहुंचने से दहशत

कैरो और भंडरा में हाथियों के पहुंचने से दहशत

कुडू के बाद अब लोहरदगा के कैरो और भंडरा प्रखंड में जंगली हाथियों के पहुंचने से लोग दहशत में हैं। कैरो और उतका गांव के आस-पास रविवार रात तीन हाथी...

कैरो और भंडरा में हाथियों के पहुंचने से दहशत
हिन्दुस्तान टीम,लोहरदगाMon, 17 Jun 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

लोहरदगा, हिटी।
कुडू के बाद अब लोहरदगा के कैरो और भंडरा प्रखंड में जंगली हाथियों के पहुंचने से लोग दहशत में हैं। कैरो और उतका गांव के आस-पास रविवार रात तीन हाथी पहुंचे थे। रविवार को दिन में हाथियों का झुंड कुडू प्रखण्ड के जोंजरो जंगल में था। रात्रि 10 बजे झुंड से भटककर तीन हाथी कैरो उतका गांव किनारे बने घरों के पास घूमने लगे। इससे लोग घबरा गए और इधर- उधर भागने लगे। लोग घर के बाहर निकलकर शोर मचाने लगे। यह माहौल दो बजे रात्रि तक देखा गया। फिर वनकर्मियों ने पहुंचकर हाथियों को गांव से दूर ले जाने में मदद की। इन हाथियों ने उतका के किसानों के गोभी खेत को नुकसान पंहुचाया है। उतका गांव निवासी सद्दाम अंसारी के घर को भी नुकसान पहुंचाया। इसके बाद हाथी अपने समूह से जा मिला और नगडी और मकुंदा गांव के सीमाना स्थित आम के बगीचे में पहुंच गया। झुंड में हाथियों की संख्या 22 बताई जा रही है। यह झुंड कैरो, सुकुरहुटू, भीठा गांव होते हुए मकुंदा पहुंचा।

रास्ते में राजू शाहदेव के खेत में लगे टमाटर के पौधों और अन्य किसानों के फसलों को रौंदते हुए झुंड आम बगीचा तक पहुंचा। यहां आम बगीचा में डेरा डाले हुए है। बगीचे में गांव के लेटेया उरांव, सुकरा उरांव, भदे उरांव, सुखदेव उरांव, सोहराई उरांव आदि के आम पेड़ लगे हैं। बगीचा में फिलहाल सभी पेड़ों में आम लदे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि हाथियों द्वारा आम को कितना नुकसान पहुंचाया गया, यह हाथियों के बगीचा से निकलने के बाद ही पता चलेगा। हाथियों के इस झुंड को देखने के लिये बगीचा के इर्दगिर्द लोगों की भीड़ दिनभर जमी थी। झुंड तक इन्हें जाने से रोकने के लिये पुलिस के जवान और वन विभाग के लोग बगीचा के पास तैनात थे। बता दें कि भंडरा प्रखंड क्षेत्र में हाथियों द्वारा हर साल उत्पात मचाया जाता है। प्रखंड के ब्राह्मणडीहा, हाटी और चट्टी में अबतक तीन लोगों की जान हाथियों द्वारा ली जा चुकी है। इसके अलावे जमगाई, तिलसिरी, कुंदो, ब्राह्मणडीहा, चट्टी, झिको, बड़ागाई, कांजो आदि गांवों में हाथी कई बार उत्पात मचा चुके हैं। प्रखंड क्षेत्र में हाथियों के पुनः आ जाने से लोगों में दहशत फैल गया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
Advertisement