DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सप्ताह में सात घंटे भी कुड़ू को बिजली नहीं मिली

सप्ताह में सात घंटे भी कुड़ू को बिजली नहीं मिली

लोहरदगा के कुडू प्रखंड के लोग पिछले करीब दो माह से बिजली की भारी किल्लत से जूझ रहे हैं। विभाग शायद इनके सब्र की परीक्षा ले रहा है। दो माह माह के बाद भी इस जनसमस्या के समाधान में किसी भी दल के नेता और जन प्रतिनिधि बिजली व्यवस्था में सुधार कराने के लिए आगे भी नहीं आये हैं।

माह पूर्व कुडू के टीको स्थित पावर सब स्टेशन में लगे पांच एमबीए का ट्रांसफर्मर, जिससे कुडू सहित आसपास के क्षेत्रों को बिजली आपूर्ति की जाती थी, जो अत्यधिक लोड के कारण जल गया था। पूरे प्रखंड को बिजली उपलब्ध कराने वाले पावर ट्रांसफार्मर के जलते ही बिजली की भारी समस्या उत्पन्न हो गयी। जिसके बाद बचे हुए दूसरे ट्रांसफार्मर से रोटेशन प्रणाली के तहत कुड़ू में बमुश्किल 24 घंटे में महज दो-तीन घंटे ही बिजली मिल रही है।

बिजली आने पर भी वोल्टेज नहीं के बराबर रहता है। जिससें बिजली चलित सारे संयंत्र कोई काम नहीं कर रहे हैं। इस कारण लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सवा माह बाद 11 जुलाई को दूसरा ट्रांसफर्मर आया। लेकिन बिना चेक कर लाए इस पावर ट्रांसफार्मर को लगाने के बाद एक दिन चार्ज किया गया और जैसे ही दूसरे दिन इसमें लोड दिया गया, ट्रांसफार्मर में जोरदार आवाज हुई और तेल लीक हो गया। यह ट्रांसफार्मर चालू होने से पहले ही खराब हो गया। परिणाम स्वरूप कुड़ू प्रखंड में बिजली आपूर्ति फिर रोस्टर सिस्टम में आ गया।

बारिश थमेगी तो गुमला से पावर ट्रांसफार्मर आ जायेगा: जेई

पिछले एक सप्ताह में सात घंटे भी कुड़ू में बिजली नही मिली है। परिणामस्वरूप लोगो का मोबाइल भी चार्ज नहीं हो पा रहा है। कई लोगों ने तो फिर से अपने घरों में ढिबरी-लालटेन खोज जलाना शुरू कर दिया है। अब यह ट्रांसफार्मर कब वापस गुमला जाएगा, फिर कब कुड़ू सब स्टेशन में लगेगा यह कोई नही बता पा रहा है। हा अलबत्ता विभाग के जेई मुरली मनोहर प्रसाद से कब तक पावर ट्रांसफार्मर लगेगा पूछने पर बारिश का बहाना बनाते हुए कहा कि बारिश थमेगी, तो गुमला से पावर ट्रांसफार्मर आ जायेगा। लगातार हो रही बारिश के कारण ट्रांसफार्मर नहीं आ पा रहा है। यहा के जन प्रतिनिधि भी खामोशी से तमसाबीन बने हुए है। इसे भेजने और दूसरा पावर ट्रांसफार्मर लगाने की दिशा में अभी तक किसी की सुगबुगाहट भी नही हुआ है।

पावर सब स्टेशन की हालत खस्ता, महत्वपूर्ण उपकरण ख्रराब

कुड़ू का पावर सब स्टेशन लंबे समय से बीमार है। इसकी सुधी लेनेवाला कोई नही है। पिछले एक सप्ताह से पूरे कुड़ू प्रखंड में बिजली की आपूर्ति नहीं होने का मुख्य कारण सब स्टेशन का महज बैटरी खराब हो जाना बताया जा रहा है। वैसे भी इस पावर सब स्टेशन की हालत इतना जर्जर है कि 33 हजार और 11 हजार लाइन के साइड का सारा भीसीबी ब्रेकर लंबे समय से खराब पड़ा हुआ है। 33 हजार का काम कंट्रोल रूम से करना है। एक नया आधुनिक ब्रेकर पिछले लगभग एक साल से सबस्टेशन में पड़ा-पड़ा टूटकर बर्बाद हो रहा है, जिसे विभागीय लापरवाही के कारण अभी तक लगाया नहीं जा सका है। बज्रपात से बचाव के लिए सब स्टेशन में एक भी लाइटिंग रोस्टर नहीं बचा है। सभी उड़कर खराब हो गए हैं। स्टेशन का सारा एबी स्विच भी वर्षों से खराब पड़ा है। सारा एबी स्विच भी डैमेज है, सारा तार पर बांधा हुआ है। इतने सामानों के खराब होने के बाद भी विभागीय अधिकारियों की कुम्भकर्णी नींद नही टूटी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:not even 7 hour power supply in whole week