DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बालूमाथ समेत कई प्रखंडों में सातवें दिन भी बिजली नहीं

विभागीय लापरवाही के कारण जिले के कई प्रखंड गत एक सप्ताह से बिजली विहीन है। इससे आम जन जीवन के साथ साथ छोटे बड़े व्यवसाय भी बुरी तरह से प्रभावित हो गए हैं।

लोगों का आरोप है कि घटिया सामान लगाए जाने की वजह से बालूमाथ विद्युत सब स्टेशन तक बिजली का पहुंचना और यहां से बारियातु और हरेहंज के 174 गांव तक आपूर्ति करना मजाक बन कर रह गया है। विद्युत पर आधारित सारे काम 7 दिनों से बंद हैं। कितनों का रोजगार बंद है। बच्चों की पढ़ाई बाधित हो रही है। इधर छिपादोहर,बरवाडीह, बेतला, महुआडांड़ समेत अन्य ग्रामीण इलाकों में तो अक्सर बिजली गायब रहती है। बेतला और छिपादोहर में कई दिनों से बिजली गायब है। महुआडांड़ में बिजली आए 10 दिन हो गया।

तार हुए जर्जर: मुख्यालय सहित तीनो प्रखंड में गांवों तक लगे 11 हजार के तार प्रतिदिन कहीं न कहीं टूट कर गिर रहे हैं। अब तक इस वर्ष 4 ग्रामीण और 6 पशु गिरे हुए तार के संर्पक में आने से अपनी जान गंवा बैठे हैं। जो तार लगे हुए हैं इतनी निम्न गुणवत्ता और जर्जर स्थिति में हैं कि हल्की आंधी में भी टूट कर गिर रहे हैं। कहीं पोल ही गिर जा रहे हैं। सिंमेंट के पोल जमीन में गढ़ा कर सीधे गाड़ दिए गए हैं। कहीं भी कंक्रि ट ढ़लाई नही की गयी है। 33 हजार के पोल के साथ भी यही किया गया है। सीधे जमीन पर गढ़ा कर गाड़ दिया गया है। उसकी भी ढ़लाई नही की गयी है। जबकि हर पोल में कंक्रिट का प्रावधान है। इसी कारण 11 हजार और 33 हजार के पोल बारिश और तूफान में उलट रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:No electicity on the seventh day in many blocks including Balumath