DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ झारखंड लातेहारबाघ की टोह पता कर रहे वनकर्मी, अबतक नहीं मिली सफलता

बाघ की टोह पता कर रहे वनकर्मी, अबतक नहीं मिली सफलता

हिन्दुस्तान टीम,लातेहारNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 05:00 PM
बाघ की टोह पता कर रहे वनकर्मी, अबतक नहीं मिली सफलता

बेतला प्रतिनिधि

गत दिनों बारेसांढ़ के रेंजर तरूण सिंह द्वारा बाघ देखे जाने की खबर ने पूरे वन महकमा में खलबली मचा दी है। इससे वर्ष 2018ई में केंद्र सरकार की जारी ब्याघ्र आंकड़ा में बाघ विहीन बताए जाने से चिंतीत पीटीआर वन प्रबंधन का न सिर्फ गम दूर हुआ है, बल्कि पीटीआर को बाघ शून्य होने का संशय मिटा है। हलांकि बारेसांढ़ रेंज में बाघ की मौजूदगी होने की खबर के बाद से उसकी सही गतिविधियों का पत्ता करने के लिए वन प्रबंधन दिन रात प्रयासरत और बेचैन है।

विभागीय सूत्रों की माने तो पीटीआर वन प्रबंधन ने उक्त बाघ की सही गतिविधियों को पत्ता करने के लिए वन कर्मियों की खास टीम गठित कर जंगलों में भेजा है। नहीं बाघ के संभावित ठिकानों पर अधिक क्षमता के कई ट्रैप कैमरा भी लगाए हैं। पर अभीतक कोई ठोस परिणाम नहीं निकलने से वन कर्मियों की खोजी टीम में मायूसी छाने लगी है। वहीं बेतला सह छिपादोहर पूर्वी रेंज के प्रभारी रेंजर प्रेम प्रसाद ने कहा कि जबतक कोई ठोस साक्ष्य नहीं मिल जाता, फिलहाल कुछ भी कह पाना मुश्किल है। वहीं खोजी टीम के कुछ सदस्यों ने बहुत जल्द सुखद संदेश मिलने की बात बताई। इधर बेतला के राजमिस्त्री धनंजय राम ने भी तीन दिन पूर्व गारू से बाईक द्वारा घर लौटने के दौरान छिपादोहर बाईपास रोड में दक्षिण से उतर की ओर बाघ को पार करते अपनी आंखों से देखने की बात बताई। बहरहाल, बाघ की टोह पता लगाने को लेकर पीटीआर वन प्रबंधन बेचैन है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें