ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड लातेहारग्रामीण मतदाताओं को रिझाने के लिए फोक्स किए हुए हैं प्रत्याशी

ग्रामीण मतदाताओं को रिझाने के लिए फोक्स किए हुए हैं प्रत्याशी

लोक सभा चुनाव को लेकर मात्र पांच दिन शेष रह गए हैं। परंतु चुनाव प्रचार अभी तक शहरी क्षेत्रो में परवान नहीं चढ़ पाया है। बता दें कि चुनाव से पूर्व...

ग्रामीण मतदाताओं को रिझाने के लिए फोक्स किए हुए हैं प्रत्याशी
हिन्दुस्तान टीम,लातेहारTue, 14 May 2024 05:30 PM
ऐप पर पढ़ें

लातेहार संवाददाता। लोक सभा चुनाव को लेकर मात्र पांच दिन शेष रह गए हैं। परंतु चुनाव प्रचार अभी तक शहरी क्षेत्रो में परवान नहीं चढ़ पाया है। बता दें कि चुनाव से पूर्व वाहनों से शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में प्रचार प्रसार जोरों शोरों से किया जाता था। लेकिन इस साल के चुनाव में विभिन्न राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता और उम्मीदवारों द्वारा चुनाव प्रचार को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक जोर दिया जा रहा है। छोटी-छोटी सभाओं और जनसंपर्क अभियान के माध्यम से मतदाताओं को रिझाने के प्रयास किये जा रहै हैं, पर मतदाताओं की खामोशी से उम्मीदवारों के साथ ही कार्यकर्ताओं के लिए भी परेशानी का सबब बना हुआ हैं। चतरा संसदीय क्षेत्र से भाजपा, कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशियों के अलावा निर्दलीय सहित 22 प्रत्याशियों चतरा लोकसभा पहुंचने के लिए अपने भाग्य आजमा रहे हैं। चुनाव आयोग की कड़ाई के कारण चुनावी भोंपू का शोर भी कम सुनाई पड़ रहा है। चुनाव खर्च की अधिकतम राशि निर्धारित कर दिये जाने के कारण राजनीतिक दल भी चुनावी सभाओं, बड़े विज्ञापनों प्रचार वाहनों के बदले घर-घर जाकर मतदाताओ को अपने पक्ष में करने के लिए दिन-रात एक किये हुए हैं। हर उम्मीदवार अपनी जीत का दावा कर रहा है।

चतरा सीट पर बीजेपी के सामने अपना ही प्रदर्शन दोहराने की चुनौती

पिछले दो लोकसभा चुनाव से चतरा संसदीय सीट बीजेपी के नाम रहा है। बीजेपी के वर्तमान सांसद सुनील कुमार सिंह ने 2014 में और फिर 2019 में लगातार जीत दर्ज किया है। 2019 के लोकसभा चुनाव में सुनील सिंह को 57.03 % मत प्राप्त हुआ था। उन्हें 5,28077 मत प्राप्त हुए थे। इस चुनाव में पहले और दूसरे स्थान पर रहने वाली पार्टी के वोट के प्रतिशत में सबसे अधिक अंतर चतरा सीट पर ही देखने को मिला था। यहां बीजेपी को 57.03 % जबकि कांग्रेस प्रत्याशी को 16.22 % जबकि राजद के उम्मीदवार को 9% वोट प्राप्त हुआ था। बीजेपी और कांग्रेस के प्रत्याशी के बीच वोट प्रतिशत का अन्तर तीन गुणा से अधिक रहा था। दो बार के सांसद सुनील सिंह का टिकट काटकर भाजपा ने स्थानीय काली चरण सिंह को इसबार मौका दिया गया । काली सिंह बीजेपी के अनुभवी नेता हैं और वर्तमान में प्रदेश उपाध्यक्ष भी हैं। उन्हें पार्टी और संगठन में काम करने का लंबा अनुभव है। इस लोक सभा चुनाव में बजेपी प्रत्याशी के सामने सबसे बढ़ी चुनौती 2019 के चुनाव में बीजेपी के प्रदर्शन को दुहराने और सांसद सुनील सिंह के 57% के वोट शेयर को बरकार रखने की होगी।

चतरा सीट पर अब 22 उम्मीदवार चुनावी मैदान

चतरा लोस क्षेत्र से अब 22 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। चतरा का रण अब चतुष्कोणीय नहीं बल्कि त्रिकोणीय लग रहा है। चतरा लोक सभा सीट पर 3 राष्ट्रीय दलों के प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। कमल के निशान पर भाजपा के पुराने नेता काली चरण सिंह हैं। महागठबंधन ने अपना उम्मीदवार पूर्व मंत्री के एन त्रिपाठी को बनाया हैं। बसपा के टिकट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और चतरा के पूर्व सांसद नागमणि भी ताल ठोक रहे हैं। क्षेत्रीय पार्टियों में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया, पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया डेमोक्रेटिक, झारखंड पार्टी, बहुजन मुक्ति मोर्चा, अंबेडकरराईट पार्टी ऑफ इंडिया के उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। चतरा सीट से 9 निर्दलीय उम्मीदवार भी चुनावी मैदान में हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।