DA Image
3 दिसंबर, 2020|7:35|IST

अगली स्टोरी

आरएसएस ने मनाया शरद पूर्णिमा उत्सव

default image

प्रखंड मुख्यालय मरकच्चो स्थित दुर्गा मंदिर परिसर में शनिवार की शाम राष्ट्रीय स्वयं सेवकों द्वारा शरद पूर्णिमा उत्सव मनाया गया। इस मौके पर विभाग के वरीय पदाधिकारी सुरेंद्र प्रताप सिंह ने शरद पूर्णिमा उत्सव पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को चंद्रमा अपनी 16 कलाओं की प्रखर आभा धरती पर बिखेरते हुए अमृत की वर्षा करती है।

पूर्णिमा की रात चंद्रमा का दर्शन अति लाभदायक होता है। विशेषज्ञों के अनुसार पूर्णिमा के रात चंद्रमा से एक विशेष प्रकार की रस की बारिश होती है, जो अनेक रोगों में संजीवनी बूटी का काम करती है ।इसे औषधि रूप देने के लिए पूर्णिमा की रात्रि लोग अपने अपने घरों की छतों पर खीर बनाकर रखते हैं। ऐसी मान्यता है कि जब चांद की किरणें खीर पर पड़ती है तो अमृतमय औषधि का काम करती है। उन्होंने कहा कि इससे दर्जनों बीमारियों में लाभ पहुंचता है। इसके पूर्व कई प्रकार के खेलों का भी आयोजन किया गया।

वहीं समापन के मौके पर सैकड़ों लोगों के बीच खीर का वितरण किया गया। इस अवसर पर कुंवर सिंह, मुकेश मोदी, महेश प्रसाद ,रविंद्र कुमार पांडे,प्रदीप सिन्हा, दिगंबर सिंह ,सतीश कुमार सिंह, रवि सिंह,शंकर पांडेय, निरंजन पांडेय, प्रो. शिवनारायण ठाकुर, नकुल यादव ,मनोज मोदी, बबुनी सिंह, उपेंद्र सिंह, सकलदेव सिंह, उमेश सिंह ,त्रिलोकी गोस्वामी, बंशी गोसाई, कलपु गोसाई ,लोटो सिंह सुरेश राणा,सुरेन्द्र पासवान आदि उपस्थित थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:RSS celebrates Sharad Purnima festival