DA Image
23 अक्तूबर, 2020|4:51|IST

अगली स्टोरी

एक जुलाई डॉक्टर्स डे पर डॉक्टरों ने दी अपनी राय,देश में डॉक्टरों को मिले सुरक्षा का अधिकार

default image

दुनिया में डॉक्टर्स को बहुत सम्मान दिया जाता है,जिसमें भारत में तो उन्हें पूजा जाता है। इसलिए भारत में प्रत्येक 1 जुलाई को डॉक्टर्स डे के रूप में मनाया जाता है। शहर के कुछ डॉक्टरों ने इस अवसर पर अपनी विचारों को साझा किया। शहर के जाने-माने कार्डियोलॉजिस्ट डॉ.सुनील कुमार यादव ने कहा कि डॉक्टर को भगवान का दूसरा रूप माना जाता है। लेकिन हाल के दिनों में देखने से पता चलता है कि डॉक्टर और पब्लिक के बीच अविश्वास की खाई निरंतर बढ़ रही है। इसे पाटने की सख्त जरूरत है। उन्होंने कहा कि मरीज को डॉक्टरों पर विश्वास करना होगा। उन्होंने कहा कि आज डॉक्टर देश भर में कोरोना वारियर्स के रूप में काम कर रहे हैं। कई लोगों ने अपनी जान भी गंवाई। फिर भी उन पर हिंसात्मक प्रहार होता है। यह समाज के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं। शहर के फिजियोथेरेपिस्ट डॉ.एके श्रीवास्तव ने कहा कि आज डॉक्टरों को सुरक्षा की गारंटी मिलनी चाहिए। उन्होंने डॉक्टरों से मरीजों के साथ अच्छा व्यवहार करने की अपील की ताकि डॉक्टर और पब्लिक के बीच के संबंध मधुर बने रहें। उन्होंने कहा कि वैसे इंसान इस काबिल नहीं कि उसकी तुलना भगवान से की जाए,लेकिन डॉक्टर ने अपने काम से यह दर्जा हासिल कर लिया है। उन्होंने कहा कि जीवन मृत्यु इन्सान नहीं भगवान के हाथ में ही होती है,लेकिन अब भगवान ने इंसान को डॉक्टर बनाकर उसे भी जीवन देने का हक दे दिया है। इस जीवन दानी को हम डॉक्टर कहते है,जो हमें जन्म देता है। साथ ही कई बार मृत्यु से भी बचाता है। इसलिए हमें उन्हें आदर और सम्मान देना चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Doctors give their opinion on July 1 Doctor 39 s Day doctors get right to safety in the country