अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेढ़ सौ तालाबों का होगा जीर्णोद्धार

डेढ़ सौ तालाबों का होगा जीर्णोद्धार

गुरुवार को समाहरणालय स्थित एसजीएसवाई के सभागार में जल संचयन पखवाड़ा का शुभारंभ हुआ। कार्यक्रम का उद्घाटन डीसी आदित्य कुमार आनंद ने किया।

मौके पर उपायुक्त ने कहा कि जिले में जल संचयन को लेकर 24 मई से 7 जून तक जल संचयन पखवाड़ा मनाया जा रहा है। कहा कि जल संचयन के लिए तालाब का जीर्णोद्धार, डोभा निर्माण सहित कई अन्य प्रकार का कार्य किया जाना है। इस दौरान ग्रामीणों को जल संचयन के संदर्भ में जानकारी दी गई। इधर जिला परिषद अध्यक्ष दीपिका बेसरा ने कहा कि जल संचयन के लिए पखवाड़ा मनाया जाना काफी सराहनीय कार्य है। कहा कि सभी किसान बेहतर ढंग से कार्य करें ताकि पानी का संरक्षण हो सके। जिससे समय पर खेती के लिए पानी मिल मयस्सर हो सकेगा। इधर जिला बीस सूत्री उपाध्यक्ष संतन मिश्रा ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा पहली बार इस तरह का कार्यक्रम चलाया जा रहा है। कहा कि सरकार का प्रयास है कि लोगों को अधिक से अधिक सरकारी सुविधा का लाभ मिल सके। कहा कि जल संचयन के लिए सरकार की ओर से डेढ़ सौ परकुलेशन टैंक का निर्माण कराया जा रहा है। इसके अलावे निजी एवं खास तालाबों का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। कार्यक्रम को डीडीसी रमाशंकर प्रसाद सहित अन्य लोगों ने संबोधित किया। इधर भूमि संरक्षण पदाधिकारी सुबोध कुमार ने कहा कि जिले के नाला विधानसभा क्षेत्र में 61, जामताड़ा में 55 और सारठ अंश में 32 तालाब का निर्माण एवं जीर्णोद्धार किया जाना हैं। पहले फेज में बारिश शुरु होने से पहले डेढ़ सौ तालाब का जीर्णोद्धार करना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:One hundred and one hundred ponds will be restored