DA Image
हिंदी न्यूज़ › झारखंड › जमशेदपुर › महिला होमगार्ड पर दुर्व्यवहार का आरोप, हंगामा
जमशेदपुर

महिला होमगार्ड पर दुर्व्यवहार का आरोप, हंगामा

हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरPublished By: Newswrap
Sun, 19 Sep 2021 05:20 PM
महिला होमगार्ड पर दुर्व्यवहार का आरोप, हंगामा

एमजीएम अस्पताल में शुक्रवार रात मानगो भाजपा महिला मंडल अध्यक्ष फातिमा शाहीन के साथ हुए दुर्व्यवहार के बाद जमकर हंगामा हुआ। दुर्व्यवहार का आरोप अस्पताल में तैनात महिला होमगार्ड चंदा पर लगा है। फातिमा शाहीन के अनुसार चंदा ने उनकी पार्टी का नाम लेकर अपमानित किया और धमकी दी। इस घटना से गुस्साए भाजपा कार्यकर्ताओं ने इमरजेंसी के बाहर धरना दे दिया और तीन घंटे तक यहां हंगामा करते रहे। इसकी सूचना मिलने पर साकची पुलिस अस्पताल परिसर पहुंची और भाजपा कार्यकर्ताओं को लिखित शिकायत करने को कहा, तब जाकर लोग वहां से हटे।

फातिमा शाहीन के अनुसार उनकी पार्टी की आजाद नगर मंडल अध्यक्ष यासमीन की बेटी की तबीयत खराब थी। उसे देखने के लिए वे एमजीएम अस्पताल पहुंचीं। बच्ची सुई लेने से मना कर रही थी, जिसे वह समझा रही थीं कि इस बीच होमगार्ड की महिला सिपाही आई और उसने उन्हें वहां से निकल जाने को कहा। होमगार्ड से उसने कहा कि वह बच्ची को समझा रही हैं, ताकि सुई ले ले। इस पर होमगार्ड ने कहा कि वह हटने को कह रही है ना, फिर आक्रोशित होकर दुर्व्यवहार करने लगी। जब यह बताया गया कि वह भाजपा के नेता हैं तो उसने कहा कि नेता होगी घर अपने पर। इसके बाद अन्य अपमानजनक शब्द कहे। इसकी शिकायत मौके से ही स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, एसपी सिटी सुभाष चंद्र जाट, अस्पताल अधीक्षक सहित अन्य लोगों से की गई।

इधर, इस घटना के संदर्भ में महिला होमगार्ड चंदा का कहना है कि भीड़ लेकर इमरजेंसी में लोग आ गए। इससे मरीजों को परेशानी हो रही थी। लोगों की भीड़ इमरजेंसी में चिकित्सक कक्ष के अंदर चले गई, जहां अन्य मरीजों को देखा जा रहा था। जब उसने भीड़ को हटाने की कोशिश की तो उसके साथ दुर्व्यवहार किया गया और सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न की गयी। चंदा के अनुसार उसने जो नियमानुसार काम करना था, वह किया ना की किसी के साथ दुर्व्यवहार किया, बल्कि मरीजों को दिक्कत होने से बचाया। इससे पहले भी एमजीएम अस्पताल में होमगार्ड जवान द्वारा बच्ची की मौत के बाद पिता द्वारा हंगामा किए जाने पर उनके साथ मारपीट की गई थी। अभी इस मामले में कार्रवाई की प्रक्रिया पूरी ही नहीं हुई है कि यह दूसरा मामला सामने आ गया।

संबंधित खबरें