ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News झारखंड जमशेदपुरदुर्गापूजा को लेकर टाटानगर से दिल्ली-मुंबई की ट्रेनों में अभी से वेटिंग

दुर्गापूजा को लेकर टाटानगर से दिल्ली-मुंबई की ट्रेनों में अभी से वेटिंग

दुर्गापूजा को लेकर दिल्ली-मुंबई की ट्रेनें फुल अभी से ही फुल होने लगी हैं। पुरी-दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस में टाटानगर से यात्रियों को स्लीपर, थर्ड...

दुर्गापूजा को लेकर टाटानगर से दिल्ली-मुंबई की ट्रेनों में अभी से वेटिंग
हिन्दुस्तान टीम,जमशेदपुरWed, 19 Jun 2024 05:30 PM
ऐप पर पढ़ें

दुर्गापूजा को लेकर दिल्ली-मुंबई की ट्रेनें फुल अभी से ही फुल होने लगी हैं। पुरी-दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस में टाटानगर से यात्रियों को स्लीपर, थर्ड एसी, इकोनॉमी समेत फर्स्ट व सेकेंड एसी कोच में कंफर्म सीट नहीं मिल रही है।
दूसरी ओर, हावड़ा-मुंबई गीतांजलि एक्सप्रेस में भी 8 अक्तूबर से सभी श्रेणियों में सीटें फुल हो गई हैं। वेटिंग 23 तक पहुंच गई है। हालांकि बिहार के आरा, बक्सर, छपरा थावे और कटिहार की ट्रेनों में अभी सीटें खाली हैं। लेकिन टिकट के लिए मारामारी है। सात राज्यों का चक्कर लगाने वाली पुरी-ऋषिकेश उत्कल एक्सप्रेस में भी 11 अक्तूबर से लगातार सभी श्रेणी के कोच में आरक्षण सिस्टम वेटिंग बता रहा है। जानकार बताते हैं कि टाटानगर स्टेशन से रोज लंबी दूरी की 41 जोड़ी ट्रेनों से करीब 20 हजार यात्री आवागमन करते हैं। लेकिन टाटानगर से पटना, गोरखपुर, जम्मू, बनारस, चेन्नई, बेंगलुरु, यशवंतपुर, मुंबई, पुणे, उदयपुर, आनंद विहार व दिल्ली की ट्रेनों में यात्रियों को सालों भर किसी श्रेणी में कंफर्म सीट नहीं मिलती है। पूजा की भीड़ में अचानक शादी के लग्न, सरकार नौकरी की बहाली परीक्षा एवं अन्य कारणों से यात्रा करने वालों को सीट की ज्यादा दिक्कत होगी।

पूजा स्पेशल चलने से मिलेगी राहत

यात्रियों को सीट देने के लिए दक्षिण पूर्व रेलवे जोन विभिन्न मार्गों पर दुर्गापूजा से दिवाली व छठ तक स्पेशल ट्रेन चलाने के साथ ट्रेनों में स्लीपर व थर्ड एसी श्रेणी का अतिरिक्त कोच भी लगाता है। बताया जाता है कि मंडल से ट्रेनों के अनुसार, वेटिंग व आरएसी की स्थिति पर जोन मुख्यालय में रिपोर्ट भेजी जाती है। इसके बाद पूजा स्पेशल ट्रेन चलाने का आदेश होता है। सूत्रों के अनुसार, दुर्गापूजा के दौरान रेलवे जोन मुंबई, पुणे जयपुर व आनंद विहार के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने के साथ आरा, बक्सर, छपरा, कटिहार व अमृतसर की ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाता है, ताकि बिहार-यूपी के यात्रियों को आवागमन में सहूलियत हो।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
Advertisement