Usha Martin aims to reach 10 lakh tonne capacity TV Narendra - उषा मार्टिन को 10 लाख टन क्षमता तक पहुंचाना लक्ष्य : टीवी नरेंद्रन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उषा मार्टिन को 10 लाख टन क्षमता तक पहुंचाना लक्ष्य : टीवी नरेंद्रन

टाटा स्टील के ग्लोबल सीईओ सह प्रबंध निदेशक टीवी नरेंद्रन ने एक इंटरव्यू में कहा है कि भारत के लिए तो भूषण स्टील का अधिग्रहण पहले हो चुका है और अब हम परिचालन कुशलता बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेंगे। उषा मार्टिन के मामले में भी यही रणनीति रहेगी। कलिंगनगर परियोजना को हम पटरी पर ला चुके हैं। अगले 24 महीने में कलिंगनगर के सभी नए संयंत्र परिचालन में होंगे। अब हम कलिंगनगर के दूसरे चरण की परियोजना को जल्द से जल्द पटरी पर लाना चाहते हैं और भूषण को 50 लाख टन एवं उषा मार्टिन को 10 लाख टन (एक मिलियन टन) क्षमता तक पहुंचाना चाहते हैं। इससे हमारी क्षमता 2.4 करोड़ टन हो जाएगी। अगले तीन से चार वर्षों में हम इसे हासिल करना चाहते हैं।

पिछले कुछ वर्षों में यूरोपियन परिचालन में सुधार:

यूरोपीय आयोग की प्रतिक्रिया के बाद टाटा स्टील और टिसेनक्रूप के बीच प्रस्तावित संयुक्त उद्यम विफल हो गया है। टाटा स्टील के ग्लोबल सीईओ सह एमडी टीवी नरेंद्रन ने इस मुद्दे पर बताया है कि कंपनी किस प्रकार एक दशक पहले इस सौदे के लिए बेहतर स्थिति में थी और अभी यह स्थिति उत्पन्न हो गई है, लेकिन अभी हमारे पास प्लान बी है और इस दिशा में काम हो रहा है। यूरोपीय परिचालन नकदी सृजन के साथ चलाने का प्रयास हो रहा है। एमडी ने कहा कि पिछले चार से पांच वर्षों के दौरान यूरोपीय परिचालन में काफी सुधार हुआ है और पिछले कुछ वर्षों के दौरान उसमें लगातार सुधार हो रहा है। अब हम उस स्थिति में पहुंच चुके हैं, जहां कारोबार को नकदी सृजन के साथ चलाना चाहते हैं, ताकि भारतीय परिचालन पर कोई दबाव न पड़े।

टाटा स्टील पिछले 10 साल के मुकाबले मजबूत हुई

एमडी ने कहा कि टाटा स्टील पांच या 10 साल पहले के मुकाबले आज काफी मजबूत स्थिति में है। हमने यूरोपीय कारोबार को पुनर्गठित किया है और इसे 1.8 करोड़ टन से घटाकर एक करोड़ टन उत्पादन पर बरकरार रखा है। जबकि, भारतीय कारोबार की उत्पादन क्षमता 40 से 50 लाख टन से बढ़कर 1.8 करोड़ टन तक पहुंच चुकी है। जहां तक यूरोपीय परिचालन का सवाल है तो ब्रिटेन में हमारी उत्पादन क्षमता 1.1 करोड़ टन है, जबकि नीदरलैंड्स में 70 लाख टन, लेकिन नीदरलैंड्स इकाई हमेशा से आत्मनिर्भर रही है। ब्रिटेन में जहां हमें चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा था, वहां उत्पादन क्षमता 1.1 करोड़ टन से घटकर महज 30 लाख टन रह गई है। इसलिए यूरोप में टाटा स्टील की मौजूदगी 1 करोड़ टन की है और ब्रिटेन में 30 लाख टन की चुनौती है। लेकिन, हम अपने स्वाभाविक कारोबार से नकदी सृजित करने के काफी करीब पहुंच चुके हैं। पिछले साल के नतीजों से पता चलता है कि समेकित एबिटा मार्जिन 18 फीसदी पर बेहतरीन रहा। एमडी ने कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि भारत के बाहर कारोबार करने वाली अन्य इस्पात कंपनियों ने समेकित आधार पर ऐसा प्रदर्शन किया है। यह आगे भी जारी रहेगा, क्योंकि भारतीय कारोबार में सुधार हो रहा है, जिसका एबिटा मार्जिन कहीं अधिक है। इस कारण ढांचागत तौर पर हम काफी मजबूत स्थिति में हैं।

एक अरब ऋण घटाने की योजना

एमडी ने कहा कि ऋण बनाम एबिटा को तीन प्रतिशत से कम करने की है योजना है। संयुक्त उद्यम के साथ और उसके बिना दोनों स्थितियों में ऋण बोझ घटाने की योजना बनाई थी। हमने संयुक्त उद्यम के बिना एक अरब डॉलर का ऋण बोझ घटाने के लिए योजना बनाई थी। हम इस लक्ष्य को हासिल करेंगे। यूरोपीय संयुक्त उद्यम 18-20 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ घटा सकता है और हम अन्य संभावनाओं पर भी गौर कर रहे हैं। मौजूदा ऋण बोझ और एबिटा प्रदर्शन के मद्देनजर हम 3.5 फीसदी (ऋण बनाम एबिटा) के दायरे में हैं। हमारा लक्ष्य इसे घटाकर तीन फीसदी से नीचे लाना है। उन्होंने कहा साल के अंत तक हमारा ऋण बोझ करीब एक लाख करोड़ रुपये था। साल के दौरान खुद अपने प्रयासों से इसमें 6,500 करोड़ रुपये की कमी लाने की योजना बनाई गई थी। संयुक्त उद्यम होने पर इसमें 18 हजार करोड़ रुपये की और कमी आ सकती थी। अब सबसे खराब स्थिति में भी इस साल के अंत तक हमारा ऋण बोझ 95 हजार करोड़ रुपये से कम रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Usha Martin aims to reach 10 lakh tonne capacity TV Narendra