DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ईंट की जगह खाली बोतलों का इस्तेमाल

मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय के उपसमाहर्ता संजय कुमार की पहल पर गरूड़बासा स्थित मानव विकास विद्यालय में बन रहे विशेष मॉडल शौचालय का निर्माण शुरू हो गया है। पर्यावरण दिवस पर सकारात्मक संदेश देने के लिए शौचालय की दीवारों का निर्माण ईंटों के बजाय खाली प्लास्टिक बोतलों में लौह अयस्क की राख भरकर किया जा रहा है। शौचालय निर्माण में मुफ्त या न्यूनतम खर्च पर मिल जाने वाले बोतल और राख के चलते एक ओर लागत काम आ रही है तो दूसरी ओर पर्यावरण के दृष्टिकोण से जागरूकता परक प्रभाव पड़ेगा। स्वच्छता चैंपियन से सम्मानित छात्रा मौन्द्रिता चटर्जी एवं उसके अभिभावक खर्च उठा रहे हैं। शौचालय निर्माण का लिया जायजा : बुधवार को इस विशेष शौचालय के निर्माण की प्रगति देखने मौके पर पहुंचे संजय कुमार को कृष्णा ने बताया कि प्लास्टिक बोतलों से दीवार बनाने का काम सुनकर शुरू में तीन-चार दिनों तक कोई भी राजमिस्त्री तैयार होने के बजाय आश्चर्यचकित हो रहा था। बाद में राजमिस्त्री नागेंद्र कर्मकार, मिठू कर्मकार तथा उनके साथियों सागर व राकेश ने इस नवाचारी निर्माण को पूरा करने की जिम्मेदारी ली। कृष्णा ने संजय कुमार को बताया कि उक्त शौचालय को निर्धारित तारीख 5 जून तक तैयार कर लिया जायेगा। इस अवसर पर अमिताभ भट्टाचार्य , स्वीटी भट्टाचार्य , एमआर सरकार के अलावा कई स्थानीय लोग मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Use of empty bottles instead of brick