DA Image
28 अक्तूबर, 2020|8:49|IST

अगली स्टोरी

टाटा स्टील के अधिकारियों और कर्मचारियों से ढाई घंटे पूछताछ

default image

श्रमायुक्त राम निवास यादव और मुख्य कारखाना निरीक्षक (सीएफआइ) गोपाल कुमार बुधवार को दोपहर डेढ़ बजे टाटा स्टील के सीआरएम प्लांट पहुंचकर 22 सितंबर को एक दुर्घटना में कंपनी के सीनियर मैनेजर की मौत के मामले की करीब ढाई घंटे तक गहन जांच और पूछताछ की। उल्लेखनीय है कि सीआरएम में 22 सितंबर की सुबह एक्जिट लूपर में फंसने से सीनियर मैनेजर सिराज जामा खान की मौत हो गयी थी। दोनों वरीय अधिकारी दोपहर लगभग डेढ़ बजे सीआरएम प्लांट पहुंचे और चार बजे तक पूरे ऑपरेशन सिस्टम को समझा। सिराज क्या काम करते थे, ऑपरेशन के दौरान किस तरह की खामी आयी थी, जिसे ठीक करने सिराज गये थे। सिराज के साथ ड्यूटी में कितने कर्मचारी कार्यरत थे। दुर्घटना के समय साथी कर्मचारी कहां थे। ऐसी तमाम बिंदुओं पर विस्तार से विभागीय चीफ रवि प्रकाश से दोनों अधिकारियों ने बातचीत की। इस दौरान कर्मचारियों से भी दुर्घटना के संबंध में जानकारी ली। चर्चा है कि टाटा स्टील में एक वरीय अधिकारी की मौत के कारण प्रशासनिक महकमा भी सकते में है, जिसकी जांच करने दोनों अधिकारी पहुंचे थे। इस मौके पर टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट (सेफ्टी) संजीव पॉल व वाइस प्रेसिडेंट (एसएस) अवनीश गुप्ता सहित प्रशासनिक अधिकारियों में उप मुख्य कारखाना निरीक्षक विनीत कुमार, कारखाना निरीक्षक विनीत कुमार सहित उप श्रमायुक्त राजेश प्रसाद भी उपस्थित थे। सूत्रों का कहना है कि एक दो दिनों में श्रमायुक्त से आदेश मिलने के बाद आगे की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Two and a half hours questioning of Tata Steel officials and employees